Somalia: मोगादिशु में आतंकी समूह अल-शबाब के बंदूकधारियों ने होटल पर हमला किया, कुछ लोगों के मारे जाने की सूचना


ख़बर सुनें

सोमालिया के मोगादिशु में आतंकी समूह अल-शबाब के बंदूकधारियों ने एक होटल पर हमला किया है। हमले में कुछ लोगों के मारे जाने की सूचना है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हमला सोमालिया की राजधानी मोगादिशु के हयात होटल में हुआ है। सुरक्षा सूत्रों और प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि अल-शबाब के लड़ाकों ने शुक्रवार को सोमालिया की राजधानी मोगादिशु के हयात होटल पर गोलियों की बौछार और विस्फोटों में हमला किया, जिसमें कुछ लोगों के हताहत होने की सूचना है। अल-कायदा से जुड़े अल-शबाब के लड़ाके जबरन होटल में घुसे और बेतरतीब ढंग से लोगों के बीच गोलीबारी शुरू कर दी।

सुरक्षा अधिकारी अब्दुकादिर हसन ने न्यूज एजेंसी एएफपी को बताया कि हयात होटल पर हमले के बाद सुरक्षा बलों और जिहादी समूह के लड़ाकों के बीच भीषण मुठभेड़ शुरू हो गई है। आतंकी अभी भी इमारत के अंदर छिपे हुए हैं। हसन ने कहा, “बंदूकधारियों के होटल में घुसने से कुछ मिनट पहले एक बड़ा धमाका हुआ।” उन्होंने कहा कि “कितने लोग हताहत हुए हैं इसका ब्योरा हमारे पास अब तक नहीं है, लेकिन कुछ लोग हताहत हुए हैं, और सुरक्षा बल अब उनसे निपट रहे हैं, जो इमारत के अंदर छिपे हुए हैं।”

प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि पहले विस्फोट के कुछ मिनट बाद होटल के बाहर दूसरा विस्फोट हुआ, जिसमें बचाव दल के सदस्य और पहले विस्फोट के बाद मौके पर पहुंचे सुरक्षा बलों के सदस्य और नागरिक हताहत हुए। एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा, “इलाके की अब घेराबंदी कर दी गई है और सुरक्षा बलों और बंदूकधारियों के बीच मुठभेड़ चल रही है।”

बता दें कि सोमालिया की कमजोर सरकार के खिलाफ पिछले एक दशक से अधिक समय से घातक विद्रोह कर रहे अल-कायदा से जुड़े जिहादी समूह अल-शबाब ने हमले की जिम्मेदारी ली है। आतंकी समूह शबाब ने समर्थक वेबसाइट पर एक संक्षिप्त बयान में कहा, “अल शबाब हमलावरों का एक समूह मोगादिशु में होटल हयात में जबरन घुस गया, लड़ाके होटल के अंदर बेतरतीब गोलीबारी कर रहे हैं।”

क्या है सोमालिया में ‘खौफ’ का दूसरा नाम बन चुका है अल-शबाब?
दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में आतंकवादी संगठन अल-कायदा के जो धड़े हैं, अल-शबाब उन्हीं में से एक है। मुख्य तौर पर सोमालिया स्थित इस संगठन का पूरा नाम हरकत अल-शबाब अल मुजाहिदीन है और केन्या से लगती देश की दक्षिणी सीमा पर इसका जबर्दस्त वर्चस्व है। अल-शबाब का एकमात्र मकसद सोमालिया सरकार को जड़ से उखाड़ना है। अल-शबाब सऊदी अरब के वहाबी इस्लाम को मानता है, जो कि इस्लाम का सबसे कट्टर स्वरूप है। 

सोमालिया सरकार के खिलाफ लंबे समय से जंग लड़ रहे इस आतंकी संगठन का ये कोई पहला हमला नहीं है। अल शबाब ने मोगादिशू शहर में इससे पहले भी कई भयानक विस्फोटों को अंजाम दिया है। आतंकी संगठन अल-शबाब की स्थापना 2006 में हुई थी। उस समय मोगादिशू शहर यूनियन ऑफ इस्लामिक कोर्ट्स के कब्जे में था, जो कि शरिया अदालतों का एक संगठन था। इसका मुखिया शरीफ शेख अहमद था। 2006 में इथियोपिया की सेना ने इस संगठन को हरा दिया और अल-शबाब का जन्म हुआ।अल-शबाब यूनियन ऑफ इस्लामिक कोर्ट्स की ही एक कट्टरपंथी शाखा है। 

सोमालिया के मोगादिशु में आतंकी समूह अल-शबाब के बंदूकधारियों ने एक होटल पर हमला किया है। हमले में कुछ लोगों के मारे जाने की सूचना है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हमला सोमालिया की राजधानी मोगादिशु के हयात होटल में हुआ है। सुरक्षा सूत्रों और प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि अल-शबाब के लड़ाकों ने शुक्रवार को सोमालिया की राजधानी मोगादिशु के हयात होटल पर गोलियों की बौछार और विस्फोटों में हमला किया, जिसमें कुछ लोगों के हताहत होने की सूचना है। अल-कायदा से जुड़े अल-शबाब के लड़ाके जबरन होटल में घुसे और बेतरतीब ढंग से लोगों के बीच गोलीबारी शुरू कर दी।

सुरक्षा अधिकारी अब्दुकादिर हसन ने न्यूज एजेंसी एएफपी को बताया कि हयात होटल पर हमले के बाद सुरक्षा बलों और जिहादी समूह के लड़ाकों के बीच भीषण मुठभेड़ शुरू हो गई है। आतंकी अभी भी इमारत के अंदर छिपे हुए हैं। हसन ने कहा, “बंदूकधारियों के होटल में घुसने से कुछ मिनट पहले एक बड़ा धमाका हुआ।” उन्होंने कहा कि “कितने लोग हताहत हुए हैं इसका ब्योरा हमारे पास अब तक नहीं है, लेकिन कुछ लोग हताहत हुए हैं, और सुरक्षा बल अब उनसे निपट रहे हैं, जो इमारत के अंदर छिपे हुए हैं।”

प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि पहले विस्फोट के कुछ मिनट बाद होटल के बाहर दूसरा विस्फोट हुआ, जिसमें बचाव दल के सदस्य और पहले विस्फोट के बाद मौके पर पहुंचे सुरक्षा बलों के सदस्य और नागरिक हताहत हुए। एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा, “इलाके की अब घेराबंदी कर दी गई है और सुरक्षा बलों और बंदूकधारियों के बीच मुठभेड़ चल रही है।”

बता दें कि सोमालिया की कमजोर सरकार के खिलाफ पिछले एक दशक से अधिक समय से घातक विद्रोह कर रहे अल-कायदा से जुड़े जिहादी समूह अल-शबाब ने हमले की जिम्मेदारी ली है। आतंकी समूह शबाब ने समर्थक वेबसाइट पर एक संक्षिप्त बयान में कहा, “अल शबाब हमलावरों का एक समूह मोगादिशु में होटल हयात में जबरन घुस गया, लड़ाके होटल के अंदर बेतरतीब गोलीबारी कर रहे हैं।”

क्या है सोमालिया में ‘खौफ’ का दूसरा नाम बन चुका है अल-शबाब?

दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में आतंकवादी संगठन अल-कायदा के जो धड़े हैं, अल-शबाब उन्हीं में से एक है। मुख्य तौर पर सोमालिया स्थित इस संगठन का पूरा नाम हरकत अल-शबाब अल मुजाहिदीन है और केन्या से लगती देश की दक्षिणी सीमा पर इसका जबर्दस्त वर्चस्व है। अल-शबाब का एकमात्र मकसद सोमालिया सरकार को जड़ से उखाड़ना है। अल-शबाब सऊदी अरब के वहाबी इस्लाम को मानता है, जो कि इस्लाम का सबसे कट्टर स्वरूप है। 

सोमालिया सरकार के खिलाफ लंबे समय से जंग लड़ रहे इस आतंकी संगठन का ये कोई पहला हमला नहीं है। अल शबाब ने मोगादिशू शहर में इससे पहले भी कई भयानक विस्फोटों को अंजाम दिया है। आतंकी संगठन अल-शबाब की स्थापना 2006 में हुई थी। उस समय मोगादिशू शहर यूनियन ऑफ इस्लामिक कोर्ट्स के कब्जे में था, जो कि शरिया अदालतों का एक संगठन था। इसका मुखिया शरीफ शेख अहमद था। 2006 में इथियोपिया की सेना ने इस संगठन को हरा दिया और अल-शबाब का जन्म हुआ।अल-शबाब यूनियन ऑफ इस्लामिक कोर्ट्स की ही एक कट्टरपंथी शाखा है। 



Source link

Leave a Reply