Raksha Bandhan 2022 : रक्षाबंधन आज, पूरे दिन भद्रा के रहते राखी बांधने का मुहूर्त रात को ही मिलेगा


07:43 AM, 11-Aug-2022

किस कलाई में रक्षासूत्र बांधे

रक्षाबंधन की शुभकामनाएं
– फोटो : amar ujala

शास्त्रों के अनुरूप पुरुषों और अविवाहित कन्याओं को दाएं हाथ में रक्षासूत्र बाँधना चाहिए एवं विवाहित स्त्रियों के लिए बाएं हाथ में कलावा बाँधने का विधान है । कलावा बंधवाते समय उस हाथ की मुट्ठी को बंद रखकर दूसरा हाथ सिर पर रखना चाहिए । कलावे का बांधा जाना हमें उस संकल्प को याद करते रहना तथा उसकी पूर्ती के लिए प्रयास करते रहना सिखाता है। मनोवैज्ञानिक दृष्टि से हाथ में कलावा बंधे होने से व्यक्ति को स्वयं ही परमात्मा द्वारा अपनी रक्षा होने का आभास  होता है ।जिससे  मन में शांति व आत्मबल में वृद्धि होती है ।व्यक्ति के मन -मस्तिष्क में बुरे विचार नहीं आते।

07:11 AM, 11-Aug-2022

राशि के अनुसार आपके लिए इस रंग की राखी रहेगी शुभ

कर्क राशि :- 

इस राशि के भाई की कलाई में चमकीले सफेद रंग की राखी बांधे और माथे पर चंदन का तिलक लगाएं। 

सिंह राशि :- 

सिंह राशि के जातकों की कलाई में गोल्डन पीले रंग की राखी बांध सकती हैं और हल्दी मिश्रित रोली का तिलक भी लगा सकती हैं। 

कन्या राशि:-

कन्या राशि के जातकों को गणेश जी के प्रतीक वाला रक्षासूत्र बांधे । 

तुला राशि :- 

इस राशि के जातकों को अपनी बहन से नीले रंग की राखी बंधवानी चाहिए।

07:05 AM, 11-Aug-2022

आज भद्रा काल में इस शुभ मुहूर्त में बांधी जा सकती है राखी

रक्षाबंधन 2022:
– फोटो : अमर उजाला

रक्षाबंधन 2022: मुहूर्त 

श्रावण रक्षाबंधन 2022 तिथि: 11 अगस्त 2022

रक्षाबंधन 2022 प्रदोष मुहूर्त: 20:52 से 21:13 तक

रक्षाबंधन 2022 अभिजीत मुहूर्त: 11:37 से 12:29 तक

06:57 AM, 11-Aug-2022

राशि अनुसार बहनें अपनी भाई को बांधे रक्षासूत्र

मेष राशि :-

इस राशि के जातक की कलाई पर लाल रंग की राखी बांध सकते हैं और उनके माथे पर कुमकुम का तिलक लगा सकते हैं।

वृष राशि :-

 जिनके भाइयों की राशि वृषभ है उन बहनों को कलाई पर सफेद रेशमी डोरी वाली राखी बांधनी चाहिए और रोली का तिलक करना चाहिए। 

मिथुन राशि :- 

इस राशि के जातकों की कलाई पर हरे रंग की राखी बांध सकते हैं और हल्दी का तिलक लगा सकते हैं। 

06:47 AM, 11-Aug-2022

आज बहनें इस मंत्र का जाप करें

आज बहनें अपने भाईयों को राखी बांधते समय इस मंत्र का जाप अवश्य करें

ॐ येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबलः।

तेन त्वामपि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल।।

06:38 AM, 11-Aug-2022

आज रक्षाबंधन पर कब बांधी जा सकती है राखी

raksha bandhan 2022
– फोटो : अमर उजाला

आज पूरे दिन भद्रा के रहते प्रदोषकाल और अभिजीत मुहूर्त में बांध सकते हैं। मुहूर्त शास्त्रों के अनुसार अभिजीत मुहूर्त और प्रदोषकाल में शुभ कार्य करना और पूजा-अनुष्ठान सदैव फलदायी रहता है। ऐसे में भद्रा के रहते अगर आज रक्षांबंधन का त्योहार माना रहे हैं तो अभिजीत मुहूर्त और प्रदोष काल को ध्यान में रखते हुए राखी बांध सकते हैं।

अभिजीत मुहूर्त -11.37 से 12.29 तक

प्रदोष मुहूर्त: 20:52 से 21:13 तक


 

06:29 AM, 11-Aug-2022

आज रक्षाबंधन पर शुभ संयोग 

आज श्रावण पूर्णिमा तिथि पर कुछ शुभ संयोग भी बना रहेगा। रक्षाबंधन के दिन आयुष्मान, सौभाग्य और ध्वज योग रहेगा। इसके अलावा शंख,हंस और सत्कीर्ति नाम का राजयोग भी होगा।

06:22 AM, 11-Aug-2022

आज पूरे दिन रहेगी भद्रा, जानें क्या कहता है आज का पंचांग

raksha bandhan 2022
– फोटो : अमर उजाला

आज राखी का पवित्र त्योहार लेकिन भद्रा लगने के कारण राखी बांधने का शुभ मुहूर्त रात को भद्रा की समाप्ति के बाद ही मिलेगा। पूर्णिमा तिथि आज सुबह 10 बजकर 38 मिनट से शुरू हो रही है। जो अगले दिन की सुबह तक रहेगी आइए जानते हैं इस बार रक्षाबंधन पर क्या है खास…

– इस बार रक्षाबंधन की तिथि दो दिन रहेगी। 11 अगस्त को सुबह 10 बजकर 38 मिनट से पूर्णिमा तिथि प्रारंभ हो जाएगी। 12 अगस्त को सुबह 7 बजकर 5 मिनट पर पूर्णिमा तिथि समाप्त हो जाएगी।

– 11 अगस्त 2022 को सुबह से ही भद्रा काल शुरू हो जाएगी जो शाम तक रहेगी। शास्त्रों के अनुसार भद्रा और राहुकाल के दौरान किसी भी तरह का शुभ और मांगलिक कार्य नहीं किया जाता है।

 –  आज रक्षाबंधन पर राहु काल को भी ध्यान में रखना होगा। शास्त्रों में राहुकाल को भी अशुभ माना गया है। 11 अगस्त को राहुकाल दोपहर 01 बजकर 41 मिनट से लेकर 03 बजकर 19 मिनट तक रहेगा।

– आज भद्रा पूंछ का समय शाम 05 बजकर 17 मिनट से लेकर 06 बजकर 18 मिनट तक रहेगी। वहीं भद्रा मुख का समय शाम 06 बजकर 18 मिनट से लेकर रात 08 बजे तक है।

05:58 AM, 11-Aug-2022

Raksha Bandhan 2022 : रक्षाबंधन आज, पूरे दिन भद्रा के रहते राखी बांधने का मुहूर्त रात को ही मिलेगा

Raksha Bandhan 2022 Rakhi Shubh Muhurat Puja Vidhi And Wishes In Hindi: आज सावन पूर्णिमा की तिथि है और इस दिन रक्षाबंधन का पवित्र त्योहार मनाया जाता है। रक्षाबंधन भाई-बहन के प्रेम और स्नेह का पर्व है। आज सावन पूर्णिमा की तिथि सुबह 10 बजकर 38 मिनट से शुरू हो रही है जो अगले दिन यानी 12 अगस्त की सुबह को 07 बजकर 05 मिनट तक रहेगी। लेकिन आज सावन पूर्णिमा तिथि के साथ भद्राकाल भी शुरू हो जाएगी। शास्त्रों में भद्रा काल को अशुभ माना जाता है। पंचांग भेद के कारण इस बार रक्षाबंधन आज और कल दोनों दिन मनाया जा रहा है। पूरे दिन भद्रा रहेगा जो रात को करीब 8 बजे समाप्त होगी।

 



Source link

Leave a Reply