Panipat: आहत हेड कांस्टेबल का इस्तीफा, बोला- आरोपी पकड़ता हूं, पुलिस ही भगा देती है…


लिखा गया त्याग पत्र। हैड कांस्टेबल आशीष कुमार सैना इंस्पेक्टर को अपना त्याग पत्र सौपतें हुए।
– फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी

ख़बर सुनें

हरियाणा के पानीपत में पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए ट्रैफिक पुलिस के हेड कांस्टेबल आशीष कुमार ने बृहस्पतिवार को इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा कि बुधवार रात वधावाराम कॉलोनी में अवैध शराब बेचने वाले एक आरोपी को पकड़ा था। जिसे सिविल ड्रेस में आए दो पुलिसकर्मियों ने भगा दिया। इससे आहत ईएचसी आशीष कुमार ने सेना क्लर्क ब्रांच के माध्यम से इंग्लिश ब्रांच में त्यागपत्र दे दिया।

एसपी को दिए त्यागपत्र में हेड कांस्टेबल आशीष कुमार ने आरोप लगाया कि 19, 20 और 21 सितंबर 2022 को तहसील कैंप थाना क्षेत्र में तैनात था। इस दौरान जुआ, नशा और अवैध शराब का कारोबार करने वाले आरोपी को पकड़ा। 21 सितंबर को सिविल ड्रेस में दो पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और नशा तस्कर को भगाने में मदद की।

उन्होंने कहा कि अपराधियों को पुलिस का संरक्षण मिला है। इससे आहत हूं। उनका जमीर ऐसे कार्यों को होते नहीं देख सकता है। ऐसे कामों पर त्वरित रोक लगाई जाए। अगर पुलिस इन्हें रोकने में सक्षम नहीं है तो उनका इस्तीफा मंजूर किया जाए। आशीष कुमार ने इस्तीफा देने से पहले सोशल मीडिया के जरिये भी इसकी जानकारी दी थी। 
 
यह भी पढ़ें : Panipat: फोन चोरी के शक में दोस्त को पीटकर मार डाला, फिर हादसे की शक्ल देने को पुल से 50 फुट नीचे फेंका

मारपीट के मामले में हेड कांस्टेबल अशीष कुमार का आया नाम 
जिस कॉलोनी में हेड कांस्टेबल ने शराब तस्कर को छुड़ाने का आरोप लगाया है, उसी वधावाराम कॉलोनी में मारपीट के मामले में दर्ज रिपोर्ट में हेड उसका भी नाम आया गया है। इस मामले में अब जांच भी हो सकती है। कॉलोनी निवासी चिराग की शिकायत पर दर्ज रिपोर्ट के मुताबिक 21 सितंबर को दो युवक आए और उससे शराब के अवैध खुर्दे के बारे में पूछने लगे। युवकों ने उसके साथ मारपीट की। चिराग ने आरोप लगाया कि दोनों युवकों ने खुद को हेड कांस्टेबल आशीष कुमार का आदमी बताया। इस मामले में तहसील कैंप थाने की पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

निर्धारित स्थान पर नहीं करता ड्यूटी : एसपी
एसपी शशांक कुमार सावन ने कहा कि आशीष कुमार निर्धारित स्थान पर ड्यूटी नहीं करता है। वह कहीं भी पहुंच जाता है। आशीष की ड्यूटी ईस्ट जोन है, जबकि वह अलग थानाक्षेत्र में दबिश दे रहा है, जो कि अनुशासनहीनता है। वह कई बार कार्यालय में मानसिक तनाव की बात कर चुका है, जिससे उस पर कार्रवाई नहीं की गई। पूर्व में उस पर दो मामलों में विभागीय कार्रवाई की जा चुकी है। 

वधावाराम कॉलोनी स्थित मकान में मिली अवैध शराब के मामले में केस दर्ज कर आरोपी जसकीरत को गिरफ्तार किया है। मुख्य सिपाही आशीष की ओर से लगाए गए आरोपों की भी जांच की जाएगी। आरोपी को छोड़ने में किसी पुलिसकर्मी की संलिप्ता मिलती है तो कार्रवाई की जाएगी। आशीष इससे पहले भी वर्ष 2018 में स्वेच्छा से सेवानिवृत्ति की अर्जी डाल चुका है। उस समय काउंसलिंग के बाद उसे विभाग में रहने दिया गया था। अब फिर से काउंसलिंग कराई जाएगी। आशीष कुमार की समस्या का समाधान किया जाएगा। – शशांक कुमार सावन, एसपी पानीपत

विस्तार

हरियाणा के पानीपत में पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए ट्रैफिक पुलिस के हेड कांस्टेबल आशीष कुमार ने बृहस्पतिवार को इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा कि बुधवार रात वधावाराम कॉलोनी में अवैध शराब बेचने वाले एक आरोपी को पकड़ा था। जिसे सिविल ड्रेस में आए दो पुलिसकर्मियों ने भगा दिया। इससे आहत ईएचसी आशीष कुमार ने सेना क्लर्क ब्रांच के माध्यम से इंग्लिश ब्रांच में त्यागपत्र दे दिया।

एसपी को दिए त्यागपत्र में हेड कांस्टेबल आशीष कुमार ने आरोप लगाया कि 19, 20 और 21 सितंबर 2022 को तहसील कैंप थाना क्षेत्र में तैनात था। इस दौरान जुआ, नशा और अवैध शराब का कारोबार करने वाले आरोपी को पकड़ा। 21 सितंबर को सिविल ड्रेस में दो पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और नशा तस्कर को भगाने में मदद की।

उन्होंने कहा कि अपराधियों को पुलिस का संरक्षण मिला है। इससे आहत हूं। उनका जमीर ऐसे कार्यों को होते नहीं देख सकता है। ऐसे कामों पर त्वरित रोक लगाई जाए। अगर पुलिस इन्हें रोकने में सक्षम नहीं है तो उनका इस्तीफा मंजूर किया जाए। आशीष कुमार ने इस्तीफा देने से पहले सोशल मीडिया के जरिये भी इसकी जानकारी दी थी। 

 

यह भी पढ़ें : Panipat: फोन चोरी के शक में दोस्त को पीटकर मार डाला, फिर हादसे की शक्ल देने को पुल से 50 फुट नीचे फेंका

मारपीट के मामले में हेड कांस्टेबल अशीष कुमार का आया नाम 

जिस कॉलोनी में हेड कांस्टेबल ने शराब तस्कर को छुड़ाने का आरोप लगाया है, उसी वधावाराम कॉलोनी में मारपीट के मामले में दर्ज रिपोर्ट में हेड उसका भी नाम आया गया है। इस मामले में अब जांच भी हो सकती है। कॉलोनी निवासी चिराग की शिकायत पर दर्ज रिपोर्ट के मुताबिक 21 सितंबर को दो युवक आए और उससे शराब के अवैध खुर्दे के बारे में पूछने लगे। युवकों ने उसके साथ मारपीट की। चिराग ने आरोप लगाया कि दोनों युवकों ने खुद को हेड कांस्टेबल आशीष कुमार का आदमी बताया। इस मामले में तहसील कैंप थाने की पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

निर्धारित स्थान पर नहीं करता ड्यूटी : एसपी

एसपी शशांक कुमार सावन ने कहा कि आशीष कुमार निर्धारित स्थान पर ड्यूटी नहीं करता है। वह कहीं भी पहुंच जाता है। आशीष की ड्यूटी ईस्ट जोन है, जबकि वह अलग थानाक्षेत्र में दबिश दे रहा है, जो कि अनुशासनहीनता है। वह कई बार कार्यालय में मानसिक तनाव की बात कर चुका है, जिससे उस पर कार्रवाई नहीं की गई। पूर्व में उस पर दो मामलों में विभागीय कार्रवाई की जा चुकी है। 

वधावाराम कॉलोनी स्थित मकान में मिली अवैध शराब के मामले में केस दर्ज कर आरोपी जसकीरत को गिरफ्तार किया है। मुख्य सिपाही आशीष की ओर से लगाए गए आरोपों की भी जांच की जाएगी। आरोपी को छोड़ने में किसी पुलिसकर्मी की संलिप्ता मिलती है तो कार्रवाई की जाएगी। आशीष इससे पहले भी वर्ष 2018 में स्वेच्छा से सेवानिवृत्ति की अर्जी डाल चुका है। उस समय काउंसलिंग के बाद उसे विभाग में रहने दिया गया था। अब फिर से काउंसलिंग कराई जाएगी। आशीष कुमार की समस्या का समाधान किया जाएगा। – शशांक कुमार सावन, एसपी पानीपत



Source link