Jharkhand Mob Lynching: झारखंड में महिला को घर से घसीटकर ले गए और पीट-पीट कर मार डाला, जादू टोने के शक में वारदात


ख़बर सुनें

झारखंड के गढ़वा जिले में 70 साल की एक वृद्धा को लोगों ने घर से निकाला और पीट-पीट मार डाला। गांव के लोगों का दावा है कि वह जादू टोना करती थी। 
गढ़वा पुलिस ने मंगलवार को बताया कि घटना चिनिया थाना क्षेत्र के खुरी गांव में हुई। पूछताछ के लिए एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। महिला के परिवार ने एक शिकायत में आरोप लगाया है कि रविवार की रात करीब साढ़े आठ बजे पांच लोग उसे घर से घसीटते हुए करीब 200 मीटर दूर ले गए और लाठियों से पीट-पीट कर मार डाला।
परिजनों ने बताया कि बुजुर्ग महिला हमलावरों से रहम की भीख मांगती रही, लेकिन उनका दिल नहीं पसीजा और वो तब तक उस पर लाठियों के प्रहार करते रहे, जब तक कि उसने दम नहीं तोड़ दिया। 
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि वृद्धा के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। जादू-टोने के शक में हत्या झारखंड की प्रमुख सामाजिक बुराई है। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के अनुसार, 2001 और 2020 के बीच जादू टोने के शक में कुल 590 लोग मारे गए। इनमें से ज्यादातर महिलाएं थीं। 

पेड़ काटने से रोकने पर गुमला में अधेड़ की पीट-पीटकर हत्या
उधर, राज्य के गुमला जिले में भरनो थाना क्षेत्र में भी एक अधेड़ की पीट पीटकर हत्या का मामला सामने आया था। 45 वर्षीय शमीम अंसारी ने पेड़ काटने का विरोध किया तो लोगों ने उन्हें लाठी-डांडों से पीट-पीटकर मार डाला था। अंसारी लकड़ी माफियाओं को रोकने का काम करते थे। 

विस्तार

झारखंड के गढ़वा जिले में 70 साल की एक वृद्धा को लोगों ने घर से निकाला और पीट-पीट मार डाला। गांव के लोगों का दावा है कि वह जादू टोना करती थी। 

गढ़वा पुलिस ने मंगलवार को बताया कि घटना चिनिया थाना क्षेत्र के खुरी गांव में हुई। पूछताछ के लिए एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। महिला के परिवार ने एक शिकायत में आरोप लगाया है कि रविवार की रात करीब साढ़े आठ बजे पांच लोग उसे घर से घसीटते हुए करीब 200 मीटर दूर ले गए और लाठियों से पीट-पीट कर मार डाला।

परिजनों ने बताया कि बुजुर्ग महिला हमलावरों से रहम की भीख मांगती रही, लेकिन उनका दिल नहीं पसीजा और वो तब तक उस पर लाठियों के प्रहार करते रहे, जब तक कि उसने दम नहीं तोड़ दिया। 

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि वृद्धा के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। जादू-टोने के शक में हत्या झारखंड की प्रमुख सामाजिक बुराई है। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के अनुसार, 2001 और 2020 के बीच जादू टोने के शक में कुल 590 लोग मारे गए। इनमें से ज्यादातर महिलाएं थीं। 

पेड़ काटने से रोकने पर गुमला में अधेड़ की पीट-पीटकर हत्या

उधर, राज्य के गुमला जिले में भरनो थाना क्षेत्र में भी एक अधेड़ की पीट पीटकर हत्या का मामला सामने आया था। 45 वर्षीय शमीम अंसारी ने पेड़ काटने का विरोध किया तो लोगों ने उन्हें लाठी-डांडों से पीट-पीटकर मार डाला था। अंसारी लकड़ी माफियाओं को रोकने का काम करते थे। 



Source link

Leave a Reply