Imran Khan: इमरान खान की हत्या की साजिश? बेड रूम में खुफिया कैमरा लगाते पकड़ा गया कर्मचारी


ख़बर सुनें

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की हत्या की साजिश रचे जाने की अफवाहों के बीच इस्लामाबाद के बेनीगाला इलाके में स्थित उनके घर के बेडरूम में एक कर्मचारी खुफिया कैमरा लगाते पकड़ा गया है।  

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस कर्मचारी को इमरान व बुशरा के बेडरूम में जासूसी कैमरा लगाने के लिए पैसे दिए गए थे। एक अन्य कर्मचारी ने जब उसे कैमरा लगाते देखा तो इमरान खान को खबर कर दी। इसके बाद पूर्व पीएम की सुरक्षा में तैनात जवानों ने उसे दबोच लिया। सुरक्षाकर्मियों ने उसे संघीय पुलिस को सौंप दिया है। 

यह घटना ऐसे समय हुई है जब पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की हत्या की साजिश रचे जाने के आरोप लगे हैं। इससे पहले इस कथित खतरे को देखते हुए बेनीगाला के आसपास सुरक्षा सख्त कर दी गई थी। इमरान की पार्टी पीटीआई के कई लोग शंका जता रहे हैं कि उनके नेता की जान को खतरा है। 

इमरान की पार्टी पीटीआई के नेता शहबाज गिल ने कहा है कि कैमरा लगाने की कोशिश को लेकर हमने सभी सुरक्षा एजेंसियों को सूचना दी है। उन्होंने आरोप लगाया कि इस साजिश में शहबाज सरकार भी शामिल है। गिल ने एक इंटरव्यू में दावा किया कि इमरान खान के घर की सफाई करने वाले एक कर्मचारी को जासूसी कैमरा लगाने के लिए पैसे दिए गए थे। यह बहुत घृणास्पद है और दुर्भाग्यपूर्ण है। ऐसी शर्मनाक घटना से बचा जाना चाहिए। गिल ने कहा कि गिरफ्तार कर्मचारी ने कई खुलासे किए हैं, लेकिन उन्होंने फिलहाल उन बातों को उजागर करने से इनकार कर दिया। 

जान को कोई खतरा नहीं : गृह मंत्री
उधर, पाकिस्तान के गृह मंत्री राना सनाउल्ला ने कहा है कि इमरान खान की जान को कोई खतरा नहीं है।  उन्हें वही सुरक्षा मुहैया कराई गई है जो प्रधानमंत्री रहने के दौरान उन्हें मिली थी। इससे पहले इमरान खान के भतीजे हसन नियाजी ने कहा था कि अगर पूर्व प्रधानमंत्री को कुछ होता है तो इसे पाकिस्तान पर हमला माना जाएगा। इसका आक्रामक जवाब दिया जाएगा।

विस्तार

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की हत्या की साजिश रचे जाने की अफवाहों के बीच इस्लामाबाद के बेनीगाला इलाके में स्थित उनके घर के बेडरूम में एक कर्मचारी खुफिया कैमरा लगाते पकड़ा गया है।  

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस कर्मचारी को इमरान व बुशरा के बेडरूम में जासूसी कैमरा लगाने के लिए पैसे दिए गए थे। एक अन्य कर्मचारी ने जब उसे कैमरा लगाते देखा तो इमरान खान को खबर कर दी। इसके बाद पूर्व पीएम की सुरक्षा में तैनात जवानों ने उसे दबोच लिया। सुरक्षाकर्मियों ने उसे संघीय पुलिस को सौंप दिया है। 

यह घटना ऐसे समय हुई है जब पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की हत्या की साजिश रचे जाने के आरोप लगे हैं। इससे पहले इस कथित खतरे को देखते हुए बेनीगाला के आसपास सुरक्षा सख्त कर दी गई थी। इमरान की पार्टी पीटीआई के कई लोग शंका जता रहे हैं कि उनके नेता की जान को खतरा है। 

इमरान की पार्टी पीटीआई के नेता शहबाज गिल ने कहा है कि कैमरा लगाने की कोशिश को लेकर हमने सभी सुरक्षा एजेंसियों को सूचना दी है। उन्होंने आरोप लगाया कि इस साजिश में शहबाज सरकार भी शामिल है। गिल ने एक इंटरव्यू में दावा किया कि इमरान खान के घर की सफाई करने वाले एक कर्मचारी को जासूसी कैमरा लगाने के लिए पैसे दिए गए थे। यह बहुत घृणास्पद है और दुर्भाग्यपूर्ण है। ऐसी शर्मनाक घटना से बचा जाना चाहिए। गिल ने कहा कि गिरफ्तार कर्मचारी ने कई खुलासे किए हैं, लेकिन उन्होंने फिलहाल उन बातों को उजागर करने से इनकार कर दिया। 

जान को कोई खतरा नहीं : गृह मंत्री

उधर, पाकिस्तान के गृह मंत्री राना सनाउल्ला ने कहा है कि इमरान खान की जान को कोई खतरा नहीं है।  उन्हें वही सुरक्षा मुहैया कराई गई है जो प्रधानमंत्री रहने के दौरान उन्हें मिली थी। इससे पहले इमरान खान के भतीजे हसन नियाजी ने कहा था कि अगर पूर्व प्रधानमंत्री को कुछ होता है तो इसे पाकिस्तान पर हमला माना जाएगा। इसका आक्रामक जवाब दिया जाएगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.