GT vs RR Playing-11: ग्रैंड फाइनल में बटलर और शमी के बीच होगी जबरदस्त टक्कर, ऐसी हो सकती है दोनों टीमों की प्लेइंग-11


आईपीएल 2022 का फाइनल आज गुजरात टाइटंस (जीटी/GT) और राजस्थान रॉयल्स (आरआर/RR) के बीच खेला जाएगा। इस मैच में दोनों टीमों के बीच जबरदस्त टक्कर देखने को मिल सकती है। लीग स्टेज के दौरान यही दोनों टीमें प्वाइंट्स टेबल में टॉप पर रही थीं। अब फाइनल में भी टूर्नामेंट की सबसे मजबूत दो टीमें गुजरात और राजस्थान आमने-सामने होंगी। इस मैच के लिए दोनों टीमें प्लेइंग-11 में कोई बदलाव नहीं कर सकती है और विनिंग-11 के साथ ही मैदान पर उतर सकती है।

क्यो हो सकती है गुजरात की प्लेइंग-11?

गुजरात की टीम ने अब तक शानदार प्रदर्शन किया है। टीम ने लीग राउंड में 14 में से 10 मैच जीते थे। टीम को सिर्फ चार मैच में हार मिली थी। गुजरात 20 अंकों के साथ अंक तालिका में शीर्ष पर रही थी। इसके बाद क्वालिफायर-1 में राजस्थान को हराया। गुजरात के लिए सबसे खास बात यह रही है कि टीम को अलग-अलग मैचों में अलग-अलग खिलाड़ियों ने जीत दिलाई है।

टीम ने कोई नामी बल्लेबाज नहीं खरीदा था, लेकिन जितने भी बल्लेबाज थे वह सभी फॉर्म में थे। ओपनिंग में ऋद्धिमान साहा और शुभमन गिल, मध्यक्रम में हार्दिक पांड्या, डेविड मिलर और राहुल तेवतिया शानदार बल्लेबाजी कर रहे हैं। टीम के लोअर ऑर्डर को ज्यादा मौके नहीं मिले हैं, लेकिन राशिद ने भी बल्ले से दो मैचों  में कमाल दिखाया है।

साहा शुरुआती मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद पिछले कुछ मैचों में कुछ खास नहीं कर पाए हैं। वह फाइनल में टीम को अच्छी शुरुआत दिलाना चाहेंगे। गेंदबाजी की बात करें तो इस सीजन गुजरात की बॉलिंग लाइन अप सबसे मजबूत मानी जा रही है।

टीम के पास मोहम्मद शमी, यश दयाल जैसे स्विंग गेंदबाज हैं। वहीं, अल्जारी जोसेफ के पास ऊंचाई के साथ-साथ गति है, जो राजस्थान के बल्लेबाजों को परेशान कर सकती है। स्पिन में राशिद खान और आरसाई किशोर की जोड़ कमाल का प्रदर्शन कर रही है। टीम बिना किसी बदलाव के फाइनल में उतर सकती है।

गुजरात की संभावित प्लेइंग-11: हार्दिक पांड्या (कप्तान), शुभमन गिल, ऋद्धिमान साहा, मैथ्यू वेड, डेविड मिलर, राहुल तेवतिया और राशिद खान, आरसाई किशोर, मोहम्मद शमी, अल्जारी जोसेफ और यश दयाल।

क्यो हो सकती है राजस्थान की प्लेइंग-11?

राजस्थान की बात करें तो क्वालिफायर-2 में जोस बटलर की धमाकेदार बल्लेबाजी ने बैंगलोर को टूर्नामेंट से बाहर कर दिया। बटलर ने शतक लगाया और गुजरात के लिए खतरे की घंटी बजा दी है। जीटी के लिए सबसे बड़ी चुनौती बटलर के बल्ले पर अंकुश लगाने की होगी। गुजरात के खिलाफ बटलर ने खूब रन बनाए हैं। जीटी के खिलाफ बटलर ने दो मैचों में 143 रन बनाए हैं। उनके साथ शानदार फॉर्म में चल रहे यशस्वी जायसवाल ओपनिंग के लिए उतर सकते हैं।

राजस्थान के लिए सबसे बड़ी परेशानी संजू सैमसन हैं। उन्हें हर मैच में शुरुआत तो अच्छी मिल रही है, लेकिन वह इसे बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर सके हैं। सैमसन 30-40 रन बनाकर आउट हो रहे हैं। ऐसे में फाइनल में उन्हें बड़ी पारी खेलनी होगी। इससे वह राष्ट्रीय चयनकर्ताओं को भी करारा जवाब दे सकेंगे।

सैमसन को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए भारतीय स्क्वॉड में शामिल नहीं किया गया है। इसके अलावा शिमरोन हेटमायर, रविचंद्रन अश्विन भी अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं। रियान पराग के पास मैच फिनिश करने की जिम्मेदारी होगी।

गेंदबाजी में राजस्थान की टीम मजबूत नजर आ रही है। ट्रेंट बोल्ट और प्रसिद्ध कृष्णा पर राजस्थान को शुरुआत में सफलता दिलाने की जिम्मेदारी होगी। वहीं, ओबेड मैकॉय डेथ ओवर्स में टीम की नैया पार लगाने की कोशिश करेंगे। मिडिल ओवर्स में रविचंद्रन अश्विन और युजवेंद्र चहल पर रन रोकन की जिम्मेदारी होगी। चहल ने इस सीजन गजब की गेंदबाजी की है और वह सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों में फिलहाल दूसरे नंबर पर हैं। 

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.