CBI Raid : दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर व अफसरों के 30 ठिकानों पर सीबीआई छापा, 14 घंटे चली जांच


ख़बर सुनें

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर और अफसरों के 30 ठिकानों पर शुक्रवार को सीबीआई ने छापा मारा। जांच एजेंसी ने दावा किया है कि सिसोदिया के निकट सहयोगी की कंपनी को कथित रूप से एक करोड़ रुपये का भुगतान किया गया। सिसोदिया ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है और वह सीबीआई की जांच तथा उसकी छापेमारी से भयभीत नहीं हैं।

आबकारी घोटाले के सिलसिले में सीबीआई ने केस भी दर्ज किया है। सीबीआई ने मनीष सिसोदिया समेत 17 को आरोपी बनाया है। उन पर राजकोष को चपत लगाने और ठेकेदारों को लाभ देने का आरोप है। एफआईआर में पहला नाम सिसोदिया का है। सिसोदिया के अलावा एफआईआर में पूर्व आयुक्त, नौ कारोबारी और दो कंपनियां भी शामिल हैं। छापे शुरू होते ही सुबह 8:32 पर सिसोदिया ने किए ट्वीट किया था-सीबीआई का स्वागत है। 

छापे के बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि कई घंटों की तलाशी के बाद एजेंसी ने उनका कंप्यूटर और मोबाइल फोन जब्त कर लिया तथा उसने कुछ फाइल भी अपने कब्जे में ले ली हैं। कई घंटे तक चली छापेमारी की कार्रवाई के बाद सिसोदिया ने संवाददाताओं से कहा कि सुबह सीबीआई की टीम पहुंची और पूरे घर की तलाशी ली। मेरे परिवार और मैंने उन्हें पूरा सहयोग दिया। उन्होंने मेरा कंप्यूटर और मोबाइल फोन जब्त कर लिया। वे कुछ फाइल भी ले गए हैं। 

सिसोदिया ने आरोप लगाया कि अरविंद केजरीवाल सरकार को दिल्ली में ‘‘अच्छा काम करने’’ से रोकने के लिए केंद्र सरकार एजेंसी का दुरुपयोग कर रही है। उन्होंने कहा कि छापेमारी के दौरान सीबीआई अधिकारियों ने अच्छा व्यवहार किया।

केजरीवाल ने कहा हम न डरेंगे, न रुकेंगे
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ”स्वतंत्र भारत के सर्वश्रेष्ठ शिक्षा मंत्री” मनीष सिसोदिया के खिलाफ ‘ऊपर से मिले’ आदेशों के तहत छापेमारी हमें परेशान करने के लिए की गई। केजरीवाल ने कहा कि ये कदम भारत को नंबर-एक बनाने के उनके अभियान की बाधाएं हैं, लेकिन वे इनके कारण रुकेंगे नहीं।

आवास पर सीबीआई के पहुंचने के बाद मनीष सिसोदिया ने किए कई ट्वीट
सीबीआई आई है। उनका स्वागत है। हम कट्टर ईमानदार हैं। लाखों बच्चों का भविष्य बना रहे हैं। बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे देश में जो अच्छा काम करता है उसे इसी तरह परेशान किया जाता है। इसीलिए हमारा देश अभी तक नम्बर-1 नहीं बन पाया। हम सीबीआई का स्वागत करते हैं. जांच में पूरा सहयोग देंगे ताकि सच जल्द सामने आ सके। अभी तक मुझ पर कई केस किए लेकिन कुछ नहीं निकला। इसमें भी कुछ नहीं निकलेगा। देश में अच्छी शिक्षा के लिए मेरा काम रोका नहीं जा सकता। यह लोग दिल्ली की शिक्षा और स्वास्थ्य के शानदार काम से परेशान हैं। इसीलिए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री और शिक्षा मंत्री को पकड़ा है ताकि शिक्षा स्वास्थ्य के अच्छे काम रोके जा सकें। हम दोनों के ऊपर झूँठे आरोप हैं. कोर्ट में सच सामने आ जाएगा।

छावनी में तब्दील रही नई दिल्ली 
दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर शुक्रवार सुबह सीबीआई की दबिश शुरू होते ही लुटियन की दिल्ली छावनी में तब्दील रही। दिल्ली पुलिस को आशंका  थी कि आप कार्यकर्ता व समर्थक नई दिल्ली में आकर भाजपा नेताओं व कार्यालय पर हंगामा कर सकते हैं। इसे देखते हुए दिल्ली पुलिस ने सभी केन्द्रीय मंत्रियों, डीडीयू मार्ग स्थित भाजपा कार्यालय व पंडित पंत मार्ग स्थित दिल्ली प्रदेश भाजपा कार्यालय की सुरक्षा बढ़ी दी गई थी। नई दिल्ली शुक्रवार को पूरे दिन छावनी में तब्दील रही। सीबीआई रेड के चलते दिल्ली पुलिस को लग रहा था कि आप कार्यकर्ता व समर्थक नई दिल्ली में हंगाम व विरोध प्रदर्शन कर सकते हैं। 

पुलिस बल ने समर्थकों को मौके से दौड़ाकर लिया हिरासत में 
आबकारी नीति मामले में शुक्रवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर सीबीआई छापेमारी के विरोध में आप समर्थकों ने प्रदर्शन किया। समर्थकों ने केंद्र के खिलाफ नारेबाजी कर छापेमारी का विरोध जताया। प्रदर्शन बढ़ने पर पुलिस ने समर्थकों को हिरासत में ले लिया। वहीं, भीड़ को दौड़ा कर मौके से तितर बितर कर दिया। मथुरा रोड स्थित उपमुख्यमंत्री के आवास पर सीबीआई के पहुंचने के बाद सुबह से ही समर्थकों की भीड़ जुटना शुरू हो गई थी। हालांकि, पुलिस ने आवास के बाहर रोड के दोनों ओर बैरिकेडिंग कर समर्थकों को रोक दिया था।

पुलिस अधिकारियों ने समर्थकों को धारा 144 का हवाला देते हुए प्रदर्शन करने से मना किया, लेकिन प्रदर्शनकारी नहीं माने।प्रदर्शनकारी नारेबाजी करते हुए बैरिकेडिंग के पास पहुंच गए। इस बीच पुलिस ने बल का प्रयोग कर प्रदर्शनकारियों को भगवानदास रोड की ओर दौड़ा दिया। वहीं, प्रदर्शन स्थल से हटने के लिए तैयार नहीं प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया। 

दिनभर पसरा रहा सन्नाट, मीडिया का रहा जमावड़ा
उपमुख्यमंत्री के आवास पर दिनभर सन्नाटा पसरा रहा। वहीं, रोड पर मीडिया का जमावड़ा लगा रहा। सुरक्षा के लिहाज से मथुरा रोड पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। वहीं, पुलिस ने बैरिकेडिंग कर सर्विस रोड को बंद कर दिया। ऐसे में किसी भी अंजान शख्स को रोड से निकलने की अनुमति नहीं थी। वहीं, छुट्टी का दिन होने के कारण हाई कोर्ट बंद था। ऐसे में अन्य दिनों के मुकाबले सिसोदिया के आवास पर चहलकदमी कम रही। 

विस्तार

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर और अफसरों के 30 ठिकानों पर शुक्रवार को सीबीआई ने छापा मारा। जांच एजेंसी ने दावा किया है कि सिसोदिया के निकट सहयोगी की कंपनी को कथित रूप से एक करोड़ रुपये का भुगतान किया गया। सिसोदिया ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है और वह सीबीआई की जांच तथा उसकी छापेमारी से भयभीत नहीं हैं।

आबकारी घोटाले के सिलसिले में सीबीआई ने केस भी दर्ज किया है। सीबीआई ने मनीष सिसोदिया समेत 17 को आरोपी बनाया है। उन पर राजकोष को चपत लगाने और ठेकेदारों को लाभ देने का आरोप है। एफआईआर में पहला नाम सिसोदिया का है। सिसोदिया के अलावा एफआईआर में पूर्व आयुक्त, नौ कारोबारी और दो कंपनियां भी शामिल हैं। छापे शुरू होते ही सुबह 8:32 पर सिसोदिया ने किए ट्वीट किया था-सीबीआई का स्वागत है। 

छापे के बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि कई घंटों की तलाशी के बाद एजेंसी ने उनका कंप्यूटर और मोबाइल फोन जब्त कर लिया तथा उसने कुछ फाइल भी अपने कब्जे में ले ली हैं। कई घंटे तक चली छापेमारी की कार्रवाई के बाद सिसोदिया ने संवाददाताओं से कहा कि सुबह सीबीआई की टीम पहुंची और पूरे घर की तलाशी ली। मेरे परिवार और मैंने उन्हें पूरा सहयोग दिया। उन्होंने मेरा कंप्यूटर और मोबाइल फोन जब्त कर लिया। वे कुछ फाइल भी ले गए हैं। 

सिसोदिया ने आरोप लगाया कि अरविंद केजरीवाल सरकार को दिल्ली में ‘‘अच्छा काम करने’’ से रोकने के लिए केंद्र सरकार एजेंसी का दुरुपयोग कर रही है। उन्होंने कहा कि छापेमारी के दौरान सीबीआई अधिकारियों ने अच्छा व्यवहार किया।

केजरीवाल ने कहा हम न डरेंगे, न रुकेंगे

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ”स्वतंत्र भारत के सर्वश्रेष्ठ शिक्षा मंत्री” मनीष सिसोदिया के खिलाफ ‘ऊपर से मिले’ आदेशों के तहत छापेमारी हमें परेशान करने के लिए की गई। केजरीवाल ने कहा कि ये कदम भारत को नंबर-एक बनाने के उनके अभियान की बाधाएं हैं, लेकिन वे इनके कारण रुकेंगे नहीं।

आवास पर सीबीआई के पहुंचने के बाद मनीष सिसोदिया ने किए कई ट्वीट

सीबीआई आई है। उनका स्वागत है। हम कट्टर ईमानदार हैं। लाखों बच्चों का भविष्य बना रहे हैं। बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे देश में जो अच्छा काम करता है उसे इसी तरह परेशान किया जाता है। इसीलिए हमारा देश अभी तक नम्बर-1 नहीं बन पाया। हम सीबीआई का स्वागत करते हैं. जांच में पूरा सहयोग देंगे ताकि सच जल्द सामने आ सके। अभी तक मुझ पर कई केस किए लेकिन कुछ नहीं निकला। इसमें भी कुछ नहीं निकलेगा। देश में अच्छी शिक्षा के लिए मेरा काम रोका नहीं जा सकता। यह लोग दिल्ली की शिक्षा और स्वास्थ्य के शानदार काम से परेशान हैं। इसीलिए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री और शिक्षा मंत्री को पकड़ा है ताकि शिक्षा स्वास्थ्य के अच्छे काम रोके जा सकें। हम दोनों के ऊपर झूँठे आरोप हैं. कोर्ट में सच सामने आ जाएगा।

छावनी में तब्दील रही नई दिल्ली 

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर शुक्रवार सुबह सीबीआई की दबिश शुरू होते ही लुटियन की दिल्ली छावनी में तब्दील रही। दिल्ली पुलिस को आशंका  थी कि आप कार्यकर्ता व समर्थक नई दिल्ली में आकर भाजपा नेताओं व कार्यालय पर हंगामा कर सकते हैं। इसे देखते हुए दिल्ली पुलिस ने सभी केन्द्रीय मंत्रियों, डीडीयू मार्ग स्थित भाजपा कार्यालय व पंडित पंत मार्ग स्थित दिल्ली प्रदेश भाजपा कार्यालय की सुरक्षा बढ़ी दी गई थी। नई दिल्ली शुक्रवार को पूरे दिन छावनी में तब्दील रही। सीबीआई रेड के चलते दिल्ली पुलिस को लग रहा था कि आप कार्यकर्ता व समर्थक नई दिल्ली में हंगाम व विरोध प्रदर्शन कर सकते हैं। 

पुलिस बल ने समर्थकों को मौके से दौड़ाकर लिया हिरासत में 

आबकारी नीति मामले में शुक्रवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर सीबीआई छापेमारी के विरोध में आप समर्थकों ने प्रदर्शन किया। समर्थकों ने केंद्र के खिलाफ नारेबाजी कर छापेमारी का विरोध जताया। प्रदर्शन बढ़ने पर पुलिस ने समर्थकों को हिरासत में ले लिया। वहीं, भीड़ को दौड़ा कर मौके से तितर बितर कर दिया। मथुरा रोड स्थित उपमुख्यमंत्री के आवास पर सीबीआई के पहुंचने के बाद सुबह से ही समर्थकों की भीड़ जुटना शुरू हो गई थी। हालांकि, पुलिस ने आवास के बाहर रोड के दोनों ओर बैरिकेडिंग कर समर्थकों को रोक दिया था।

पुलिस अधिकारियों ने समर्थकों को धारा 144 का हवाला देते हुए प्रदर्शन करने से मना किया, लेकिन प्रदर्शनकारी नहीं माने।प्रदर्शनकारी नारेबाजी करते हुए बैरिकेडिंग के पास पहुंच गए। इस बीच पुलिस ने बल का प्रयोग कर प्रदर्शनकारियों को भगवानदास रोड की ओर दौड़ा दिया। वहीं, प्रदर्शन स्थल से हटने के लिए तैयार नहीं प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया। 

दिनभर पसरा रहा सन्नाट, मीडिया का रहा जमावड़ा

उपमुख्यमंत्री के आवास पर दिनभर सन्नाटा पसरा रहा। वहीं, रोड पर मीडिया का जमावड़ा लगा रहा। सुरक्षा के लिहाज से मथुरा रोड पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। वहीं, पुलिस ने बैरिकेडिंग कर सर्विस रोड को बंद कर दिया। ऐसे में किसी भी अंजान शख्स को रोड से निकलने की अनुमति नहीं थी। वहीं, छुट्टी का दिन होने के कारण हाई कोर्ट बंद था। ऐसे में अन्य दिनों के मुकाबले सिसोदिया के आवास पर चहलकदमी कम रही। 



Source link

Leave a Reply