BJP vs Congress: कांग्रेस पर भाजपा का हमला जारी, कहा- राहुल ने अच्छी फोटो के लिए दीपेंद्र हुड्डा की शर्ट फाड़ी


ख़बर सुनें

शुक्रवार को कांग्रेस ने महंगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान पार्टी नेताओं और समर्थकों ने काले कपड़े पहने। राहुल-प्रियंका गांधी समेत कई नेताओं को दिनभर हिरासत में रखा गया था। इसके बाद राहुल गांधी ने पुलिस पर आरोप लगाया था कि पुलिस ने कुछ सांसदों के साथ मारपीट की थी। वहीं, आज बीजेपी ने कांग्रेस को घेरते हुए कहा है कि राहुल और प्रियंका गांधी ‘तमाशे की राजनीति’ करती हैं। 

भाजपा ने लगाया आरोप
दरअसल, बीजेपी नेता अमित मालवीय ने एक फोटो ट्वीट की है। इसमें उन्होंने आरोप लगाते हुए लिखा कि ‘राहुल गांधी ने अपने सहयोगी दीपेंद्र हुड्डा की शर्ट फाड़ दी, ताकि प्रदर्शन की एक अच्छी फोटो बन सके और दिल्ली पुलिस को इसके लिए दोषी ठहराया जा सके।’ गौरतलब है कि इस तस्वीर में राहुल गांधी और कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा पुलिस के साथ धक्का-मुक्की करते दिख रहे हैं। गौरतलब है कि इससे पहले भाजपा आईटी विंग के प्रभारी अमित मालवीय ने दावा किया था कि कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने प्रदर्शन के दौरान ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों का हाथ मरोड़ा था। इतना ही नहीं कांग्रेस नेता ने उन्हें लात तक मारी थी।

अधीर रंजन ने भाजपा पर बोला हमला
वहीं, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने गृहमंत्री अमित शाह के बयान पर पलटवार करते हुए उनपर हमला बोला है। उन्होंने शनिवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी ‘राम’ का सहारा ले रही है। असली मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने ले लिए उनका एकमात्र हथियार राम” हैं। इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा भगवान राम के नाम पर ‘रावण की पूजा” करती है। 

सरकार ‘राम’ के नाम पर आम लोगों को दे रही धोखा
कांग्रेस नेता ने कहा कि कांग्रेस  आसमान छूती महंगाई और बेरोजगारी की बढ़ती दर को लेकर विरोध कर रही है। लोगों के मुद्दों को उठाना हमारी राजनीतिक, नैतिक और वैचारिक जिम्मेदारी है। लोग मूल्य वृद्धि के असामान्य उछाल से परेशान हैं। लेकिन सरकार ‘राम’ के नाम पर आम लोगों को धोखा दे रही है। उन्होंने सरकार पर पथांतरण की रणनीति का सहारा लेने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इस सरकार को जनता की भलाई से कोई मतलब नहीं हैं। ये सरकार जनविरोधी और कार्पोरेट की समर्थक है।

उन्होंने कहा कि जब हम इसका विरोध कर रहे हैं, तो वे इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते। इसलिए अब वे आम लोगों का ध्यान हटाने की कोशिश कर रहे हैं। वे अपने एकमात्र हथियार ‘राम’ का सहारा ले रहे हैं। इस दौरान कांग्रेस नेता ने भाजपा पर आरोप लगाया कि भाजपा भगवान राम के नाम पर ‘रावण की पूजा” करती है। 

अमित शाह ने कांग्रेस पर लगाया था आरोप
गौरतलब है कि शुक्रवार को कांग्रेस ने महंगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान पार्टी नेताओं और समथकों ने काले कपड़े पहने। राहुल-प्रियंका गांधी समेत कई नेताओं को दिनभर हिरासत में रखा गया। इसके बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को कांग्रेस को जमकर घेरा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने विरोध के लिए इस दिन को चुना और काले कपड़े पहने, क्योंकि वे अपनी तुष्टिकरण की राजनीति को और बढ़ावा देने के लिए एक संदेश देना चाहते हैं। इसी दिन पीएम मोदी ने राम जन्मभूमि की नींव रखी थी। हालांकि, कांग्रेस ने इन आरोपों को निराधार करार दिया है। कांग्रेस आज प्रदर्शन कर संदेश देना चाहते हैं कि वो राम जन्मभूमि के शिलान्यास का विरोध करते हैं और तुष्टीकरण की नीति को आगे बढ़ाना चाहते हैं।

मोतीलाल वोरा के सभी वित्तीय फैसले लेने के साक्ष्य नहीं : सूत्र
वहीं, प्रवर्तन निदेशालय के सूत्रों ने शनिवार को बताया कि नेशनल हेराल्ड मामले में अब तक की जांच में इस बात का कोई साक्ष्य नहीं मिला कि मोतीलाल वोरा सभी वित्तीय फैसले लेते थे। न तो पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने ऐसा कुछ बताया और न ही राहुल गांधी या अन्य कांग्रेस नेताओं ने ईडी को ऐसा बताया।

सूत्रों के मुताबिक सोनिया व राहुल ने बताया कि पार्टी के सबसे लंबे समय तक कोषाध्यक्ष रहने वाले नेता ने ही एसोसिएट जर्नल प्राइवेट लिमिटेड (एजेएल) के शेयर यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड में हस्तांतरित करने का निर्णय लिया है। मोतीलाल वोरा का निधन 93 वर्ष की आयु में 21 दिसंबर 2020 को हुआ था।

विस्तार

शुक्रवार को कांग्रेस ने महंगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान पार्टी नेताओं और समर्थकों ने काले कपड़े पहने। राहुल-प्रियंका गांधी समेत कई नेताओं को दिनभर हिरासत में रखा गया था। इसके बाद राहुल गांधी ने पुलिस पर आरोप लगाया था कि पुलिस ने कुछ सांसदों के साथ मारपीट की थी। वहीं, आज बीजेपी ने कांग्रेस को घेरते हुए कहा है कि राहुल और प्रियंका गांधी ‘तमाशे की राजनीति’ करती हैं। 

भाजपा ने लगाया आरोप

दरअसल, बीजेपी नेता अमित मालवीय ने एक फोटो ट्वीट की है। इसमें उन्होंने आरोप लगाते हुए लिखा कि ‘राहुल गांधी ने अपने सहयोगी दीपेंद्र हुड्डा की शर्ट फाड़ दी, ताकि प्रदर्शन की एक अच्छी फोटो बन सके और दिल्ली पुलिस को इसके लिए दोषी ठहराया जा सके।’ गौरतलब है कि इस तस्वीर में राहुल गांधी और कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा पुलिस के साथ धक्का-मुक्की करते दिख रहे हैं। गौरतलब है कि इससे पहले भाजपा आईटी विंग के प्रभारी अमित मालवीय ने दावा किया था कि कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने प्रदर्शन के दौरान ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों का हाथ मरोड़ा था। इतना ही नहीं कांग्रेस नेता ने उन्हें लात तक मारी थी।

अधीर रंजन ने भाजपा पर बोला हमला

वहीं, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने गृहमंत्री अमित शाह के बयान पर पलटवार करते हुए उनपर हमला बोला है। उन्होंने शनिवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी ‘राम’ का सहारा ले रही है। असली मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने ले लिए उनका एकमात्र हथियार राम” हैं। इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा भगवान राम के नाम पर ‘रावण की पूजा” करती है। 

सरकार ‘राम’ के नाम पर आम लोगों को दे रही धोखा

कांग्रेस नेता ने कहा कि कांग्रेस  आसमान छूती महंगाई और बेरोजगारी की बढ़ती दर को लेकर विरोध कर रही है। लोगों के मुद्दों को उठाना हमारी राजनीतिक, नैतिक और वैचारिक जिम्मेदारी है। लोग मूल्य वृद्धि के असामान्य उछाल से परेशान हैं। लेकिन सरकार ‘राम’ के नाम पर आम लोगों को धोखा दे रही है। उन्होंने सरकार पर पथांतरण की रणनीति का सहारा लेने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इस सरकार को जनता की भलाई से कोई मतलब नहीं हैं। ये सरकार जनविरोधी और कार्पोरेट की समर्थक है।

उन्होंने कहा कि जब हम इसका विरोध कर रहे हैं, तो वे इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते। इसलिए अब वे आम लोगों का ध्यान हटाने की कोशिश कर रहे हैं। वे अपने एकमात्र हथियार ‘राम’ का सहारा ले रहे हैं। इस दौरान कांग्रेस नेता ने भाजपा पर आरोप लगाया कि भाजपा भगवान राम के नाम पर ‘रावण की पूजा” करती है। 

अमित शाह ने कांग्रेस पर लगाया था आरोप

गौरतलब है कि शुक्रवार को कांग्रेस ने महंगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान पार्टी नेताओं और समथकों ने काले कपड़े पहने। राहुल-प्रियंका गांधी समेत कई नेताओं को दिनभर हिरासत में रखा गया। इसके बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को कांग्रेस को जमकर घेरा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने विरोध के लिए इस दिन को चुना और काले कपड़े पहने, क्योंकि वे अपनी तुष्टिकरण की राजनीति को और बढ़ावा देने के लिए एक संदेश देना चाहते हैं। इसी दिन पीएम मोदी ने राम जन्मभूमि की नींव रखी थी। हालांकि, कांग्रेस ने इन आरोपों को निराधार करार दिया है। कांग्रेस आज प्रदर्शन कर संदेश देना चाहते हैं कि वो राम जन्मभूमि के शिलान्यास का विरोध करते हैं और तुष्टीकरण की नीति को आगे बढ़ाना चाहते हैं।

मोतीलाल वोरा के सभी वित्तीय फैसले लेने के साक्ष्य नहीं : सूत्र

वहीं, प्रवर्तन निदेशालय के सूत्रों ने शनिवार को बताया कि नेशनल हेराल्ड मामले में अब तक की जांच में इस बात का कोई साक्ष्य नहीं मिला कि मोतीलाल वोरा सभी वित्तीय फैसले लेते थे। न तो पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने ऐसा कुछ बताया और न ही राहुल गांधी या अन्य कांग्रेस नेताओं ने ईडी को ऐसा बताया।

सूत्रों के मुताबिक सोनिया व राहुल ने बताया कि पार्टी के सबसे लंबे समय तक कोषाध्यक्ष रहने वाले नेता ने ही एसोसिएट जर्नल प्राइवेट लिमिटेड (एजेएल) के शेयर यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड में हस्तांतरित करने का निर्णय लिया है। मोतीलाल वोरा का निधन 93 वर्ष की आयु में 21 दिसंबर 2020 को हुआ था।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.