Bihar: ‘JDU-BJP पति-पत्नी की तरह, इसे तोड़ना इतना आसान नहीं’ गठबंधन को लेकर बोले मंत्री विजेंद्र यादव


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटना
Published by: संजीव कुमार झा
Updated Fri, 24 Jun 2022 10:02 AM IST

ख़बर सुनें

महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच बिहार में भी जदयू और भाजपा गठबंधन के बीच खटपट होने की अटकलें लगाई जा रही हैं। बताया जा रहा है कि सेना भर्ती के लिए लाई गई अग्निपथ योजना को लेकर दोनों पार्टियों के बीच मतभेद है। हालांकि अब जदयू नेता और मंत्री विजेंद्र यादव ने इस मसले पर स्पष्टिकरण दिया है। उन्होंने कहा है कि दोनों पार्टियों के बीच कोई मतभेद नहीं है। भाजपा और जदयू तो पति-पत्नी की तरह है जिसके बीच नोंक-झोंक तो हो सकती है लेकिन अलग करना मुश्किल है। हमदोनों के विचार अलग-अलग हो सकते हैं इसका मतलब ये नहीं कि हमलोग अलग हो जाएंगे।

कोई किसी का गुलाम नहीं: विजेंद्र यावद
उन्होंने कहा कि दोनों दलों के बीच गठबंधन हुआ है, कोई किसी का गुलाम नहीं है। गुरुवार को वह जेडीयू प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि दोनों दल के विचार अलग हो सकते हैं लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि दोनों के बीच संबंध खराब हो जाएंगे। दोनों पार्टियां बिहार की तरक्की के लिए काम कर रही हैं।

महाराष्ट्र संकट जैसा बिहार में कुछ नहीं: विजेंद्र यादव
महाराष्ट्र में चल रहे सियासी संकट के बीच जब पत्रकारों ने मंत्री से पूछा कि महाराष्ट्र का असर बिहार में पड़ सकता है क्या? यहां भी JDU के विधायक को तोड़ने की कोशिश की जा सकती है क्या? तो मंत्री ने जवाब देते हुए कहा कि नेता में दम होना चाहिए, जो पार्टी को जोड़ के रखे। नीतीश कुमार को पार्टी चलाना अच्छे से आता है। इसी बीच पत्रकारों ने उनसे पूछ लिया कि भाजपा-जदयू के बीच सब कुछ ठीक नहीं दिख रहा।

विस्तार

महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच बिहार में भी जदयू और भाजपा गठबंधन के बीच खटपट होने की अटकलें लगाई जा रही हैं। बताया जा रहा है कि सेना भर्ती के लिए लाई गई अग्निपथ योजना को लेकर दोनों पार्टियों के बीच मतभेद है। हालांकि अब जदयू नेता और मंत्री विजेंद्र यादव ने इस मसले पर स्पष्टिकरण दिया है। उन्होंने कहा है कि दोनों पार्टियों के बीच कोई मतभेद नहीं है। भाजपा और जदयू तो पति-पत्नी की तरह है जिसके बीच नोंक-झोंक तो हो सकती है लेकिन अलग करना मुश्किल है। हमदोनों के विचार अलग-अलग हो सकते हैं इसका मतलब ये नहीं कि हमलोग अलग हो जाएंगे।

कोई किसी का गुलाम नहीं: विजेंद्र यावद

उन्होंने कहा कि दोनों दलों के बीच गठबंधन हुआ है, कोई किसी का गुलाम नहीं है। गुरुवार को वह जेडीयू प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि दोनों दल के विचार अलग हो सकते हैं लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि दोनों के बीच संबंध खराब हो जाएंगे। दोनों पार्टियां बिहार की तरक्की के लिए काम कर रही हैं।

महाराष्ट्र संकट जैसा बिहार में कुछ नहीं: विजेंद्र यादव

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी संकट के बीच जब पत्रकारों ने मंत्री से पूछा कि महाराष्ट्र का असर बिहार में पड़ सकता है क्या? यहां भी JDU के विधायक को तोड़ने की कोशिश की जा सकती है क्या? तो मंत्री ने जवाब देते हुए कहा कि नेता में दम होना चाहिए, जो पार्टी को जोड़ के रखे। नीतीश कुमार को पार्टी चलाना अच्छे से आता है। इसी बीच पत्रकारों ने उनसे पूछ लिया कि भाजपा-जदयू के बीच सब कुछ ठीक नहीं दिख रहा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.