Agra: हिंदू युवा वाहिनी के पदाधिकारी की मेटाडोर पर फर्जी नंबर प्लेट, चालक गिरफ्तार, गाड़ी मालिक की तलाश

सार

पुलिस ने फर्जी नंबर प्लेट लगी गाड़ी को पकड़ा है। यह गाड़ी मेरठ निवासी युवक के नाम पर है। वह हिंदू युवा वाहिना का पदाधिकारी भी है। उसके खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

ख़बर सुनें

आगरा के थाना शाहगंज क्षेत्र में पुलिस ने मंगलवार को चेकिंग के दौरान फर्जी नंबर प्लेट लगाकर मेटाडोर चलाते हुए चालक को पकड़ लिया। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया। वहीं गाड़ी मालिक की तलाश है। वह मेरठ में हिंदू युवा वाहिनी का पदाधिकारी है।

थाना प्रभारी निरीक्षक जसवीर सिंह सिरोही ने बताया कि सोमवार दोपहर को सूचना मिली थी कि पथौली की तरफ एक मेटाडोर आ रही है। उस पर फर्जी नंबर प्लेट लगी है। इस पर चौकी प्रभारी योगेंद्र सिंह ने घेराबंदी की। मेटाडोर को रोक लिया गया। उसका नंबर यूपी 15 बीटी 4596 था। 

दिल्ली निवासी व्यक्ति के नाम पर है नंबर 

चालक ने कागजात की फोटोस्टेट कापी दी। पुलिस ने गाड़ी के चेसिस और इंजन नंबर चेक किए। इसमें पता चला कि असली नंबर डीएल 1एलडब्ल्यू 0246 है। यह नंबर दिल्ली के अब्दुल सत्तार के नाम पर है। पुलिस की पूछताछ में चालक ने अपना नाम महुआ खेड़ा, ताजगंज निवासी रामप्रकाश यादव बताया। कहा कि गाड़ी मेरठ के जागृति विहार निवासी अंकुर त्यागी के नाम पर है। 

अंकुर त्यागी हिंदू युवा वाहिनी का पदाधिकारी है। चालक ने बताया कि वह एक ही नंबर से दो गाड़ी चलाता है। मामले में चौकी प्रभारी ने धोखाधड़ी और गाड़ी पर फर्जी नंबर डालकर चलाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया। चालक को जेल भेज दिया। वहीं मालिक की तलाश की जा रही है। मेटाडोर में कोरियर का सामान भरा हुआ है।

विस्तार

आगरा के थाना शाहगंज क्षेत्र में पुलिस ने मंगलवार को चेकिंग के दौरान फर्जी नंबर प्लेट लगाकर मेटाडोर चलाते हुए चालक को पकड़ लिया। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया। वहीं गाड़ी मालिक की तलाश है। वह मेरठ में हिंदू युवा वाहिनी का पदाधिकारी है।

थाना प्रभारी निरीक्षक जसवीर सिंह सिरोही ने बताया कि सोमवार दोपहर को सूचना मिली थी कि पथौली की तरफ एक मेटाडोर आ रही है। उस पर फर्जी नंबर प्लेट लगी है। इस पर चौकी प्रभारी योगेंद्र सिंह ने घेराबंदी की। मेटाडोर को रोक लिया गया। उसका नंबर यूपी 15 बीटी 4596 था। 

दिल्ली निवासी व्यक्ति के नाम पर है नंबर 

चालक ने कागजात की फोटोस्टेट कापी दी। पुलिस ने गाड़ी के चेसिस और इंजन नंबर चेक किए। इसमें पता चला कि असली नंबर डीएल 1एलडब्ल्यू 0246 है। यह नंबर दिल्ली के अब्दुल सत्तार के नाम पर है। पुलिस की पूछताछ में चालक ने अपना नाम महुआ खेड़ा, ताजगंज निवासी रामप्रकाश यादव बताया। कहा कि गाड़ी मेरठ के जागृति विहार निवासी अंकुर त्यागी के नाम पर है।

अंकुर त्यागी हिंदू युवा वाहिनी का पदाधिकारी है। चालक ने बताया कि वह एक ही नंबर से दो गाड़ी चलाता है। मामले में चौकी प्रभारी ने धोखाधड़ी और गाड़ी पर फर्जी नंबर डालकर चलाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया। चालक को जेल भेज दिया। वहीं मालिक की तलाश की जा रही है। मेटाडोर में कोरियर का सामान भरा हुआ है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.