लाहौर में जूते बेच रहा ये पाकिस्तानी अंपायर, IPL में मैच फिक्सिंग को लेकर BCCI पर लगाया आरोप!

Image Source : GETTYIMAGES, TWITTER SCREENSHOT (VIDEO)
पाकिस्तानी अंपायर असद रऊफ- अपने अंपायरिंग करियर के दौरान (बाएं), अपनी दुकान पर जूते बेचते हुए (दाएं)

13 साल के अंपायरिंग करियर में 49 टेस्ट, 98 वनडे और 23 टी20 इंटरनेशनल मुकाबलों में अंपायर रह चुके पाकिस्तान के असद रौफ (Asad Rauf) अब पाकिस्तान के बाजार में जूते बेच रहे हैं। आपको बता दें कि 2016 में उनके ऊपर बीसीसीआई ने आईपीएल के दौरान बुकीज से मिलने, गिफ्ट्स लेने और फिक्सिंग के आरोपों के चलते आरोप लगा दिया था। उन्होंने पाकिस्तान के एक टीवी चैनल से अपने इस काम को लेकर बातचीत की और बीसीसीआई द्वारा बैन लगाने पर जवाब देते हुए उल्टा भारतीय बोर्ड पर ही आरोप मढ़ दिया।

असद रऊफ की लाहौर के लांडा बाजार में एक दुकान है। जहां वह कुछ कपड़े और जूते बेचते हैं। अपनी दुकान के अंदर ही उन्होंने उस पाकिस्तानी चैनल से बातचीत की और कहा कि,’मैंने सारी उम्र जब खुद ही खिला दी तो अब देखना किसको है। मैंने 2013 के बाद क्रिकेट से बिल्कुल ही…क्योंकि मैं जो काम छोड़ता हूं उसे एकदम छोड़ ही देता हूं।’ गौरतलब है कि 2016 में बीसीसीआई की अनुशासन समिति द्वारा फिक्सिंग, बुकीज से गिफ्ट लेने और अन्य गलत कामों में दोषी पाए जाने के बाद उनके ऊपर 5 साल का बैन लगा दिया गया था।

IPL फिक्सिंग को लेकर रऊफ ने BCCI पर ही लगा दिया आरोप!

आईपीएल में फिक्सिंग विवाद में शामिल होने और बुकीज से गिफ्ट लेने सहित अन्य आरोपों पर बोलते हुए रऊफ ने कहा कि,’उनसे मेरा तो कोई लेना देना था ही नहीं। वो उन्हीं (BCCI) की तरफ से आए और उन्होंने (BCCI) ही डिसीजन (निर्णय) ले लिया।’ पाकिस्तानी अंपायर ने साफतौर पर कहा कि, यह सारे आरोप मेरे ऊपर बीसीसीआई की तरफ से ही लगाए गए और फिर खुद उन्होंने ही इस पर फैसला भी कर लिया। जबकि उनका इससे लेना देना नहीं था।

ENG vs NZ: अजीबोगरीब तरीके से OUT हुए हेनरी निकोल्स, नॉन स्ट्राइकर के बल्ले से लगने पर हुए कैच आउट; देखें Video

मॉडल ने यौन उत्पीड़न के भी लगाए थे आरोप!

इसके अलावा असद रऊफ के ऊपर एक मॉडल ने शादी का झांसा देकर यौन उत्पीड़न करने के आरोप भी लगाए थे। करीब 10 साल पहले पाकिस्तानी अंपायर ने इस आरोप को खारिज कर दिया था। एक बार फिर उन्होंने इसे लेकर कहा कि,’लड़की वाला मामला जब आया था तो मैं उसके अगले साल भी आईपीएल करवाने (आईपीएल में अंपायरिंग के लिए) गया था।’ इसके अलावा अपने इस काम को लेकर वह बोले कि,’मैं जो काम करता हूं उसमें ऊपर तक जाता हूं। इस काम में भी मैं वैसा ही कर रहा। ये काम मेरे लिए नहीं ये मेरे स्टाफ की रोजी लगी हुई है। ये मैं उनके लिए ही करता हूं।’

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.