यूपी पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, शामली में कुख्यात बदमाश AK-47 और 1300 कारतूस के साथ गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के शामली में स्थानीय पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। मंगलवार को कादरगढ़ चौकी पर पुलिस ने चेकिंग दौरान कुख्यात बदमाश अनिल उर्फ पिंटू को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसके पास से एक AK-47, 1300 से भी ज्यादा कारतूस औक एक क्रेटा कार बरामद की है। अनिल उर्फ पिंटू संजीव जीवा गैंग का बदमाश है।
जानकारी के अनुसार, कार में सवार तीनों बदमाश मुजफ्फरनगर से हरियाणा जा रहे थे। मुखबिर की मिली सूचना पर थाना प्रभारी प्रेमवीर सिंह राणा, कदरगढ़ चौकी प्रभारी उपेंद्र सिंह, जलालाबाद पुलिस चौकी प्रभारी, विजय त्यागी ने पुलिस कर्मियों के साथ कादरगढ़ चौकी पर चेकिंग से घेराबंदी की। घेराबंदी दौरान अनिल उर्फ पिंटू को गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि उसके दो साथी फरार हो गए। इस दौरान पुलिस ने एके-47, 1300 मैगजीन  भी बरामद की है।
पुलिस अधीक्षक सुकीर्ति माधव ने मंगलवार को बताया कि मुजफ्फरनगर निवासी गिरफ्तार अभियुक्त अनिल उर्फ पिंटू ने पूछताछ में कहा कि उसने एके-47 कुख्यात अपराधी संजीव जीवा से 11 लाख रुपये में खरीदी थी जिसे छिपाने के लिए वह निकला था मगर पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पिंटू ने बताया कि रौब गांठने के लिए खरीदे गए इस हथियार से उसे और उसके दोस्त अनिल बंजी ने मेरठ के मोदीपुरम स्थित कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति की हत्या की सुपारी ली थी मगर बाद में इरादा बदल दिया और कुलपति पर दूसरे हथियार से हमला किया गया हालांकि वह इस हमले में बाल बाल बच गए।

संबंधित खबरें

इस मामले में अनिल बंजी और उसके साथी पकड़े गए जो इस समय मेरठ जेल में है। गिरफ्तार अपराधी इससे पहले विक्की त्यागी की हत्या के आरोप में जेल जा चुका है। अनिल बंजी सिसौली कस्बे का निवासी है जिसने वर्ष 2009 में वायुसेना से सेवानिवृत्ति ली थी। उन्होंने बताया कि अनिल के कब्जे से एके 47 और चार मैगजीन के अलावा 7.62 एमएम के 700 कारतूस और 4.55 एमएम के 400 कारतूस बरामद किए गए हैं। इस मामले में सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज कर वैधानिक कार्रवाई की जा रही है। एके 47 और कारतूस कहां से आए और इसमें किसका हाथ है, पता लगाया जा रहा है। इस सिलसिले में जेल में बंद कुछ अभियुक्तों को रिमांड में लेकर पूछताछ की जाएगी।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.