मैनपुरी नवोदय छात्रा हत्याकांड: कौन हैं अमित और रजनी ? एसआईटी की जांच में सामने आए दो नाम

संवाद न्यूज एजेंसी, मैनपुरी
Published by: मुकेश कुमार
Updated Sun, 10 Apr 2022 12:05 AM IST


सार

नवोदय छात्रा हत्याकांड में एसआईटी की जांच जारी है। जांच में दो संदिग्धों के नाम सामने आए हैं, जिनकी घरों की तलाशी के निर्देश दिए गए हैं।

ख़बर सुनें

मैनपुरी के जवाहर नवोदय विद्यालय भोगांव की छात्रा की कथित हत्या व दुष्कर्म के मामले में एसआईटी के सामने दो संदिग्धों के नाम प्रकाश में आए हैं। एडीजी द्वारा गठित की गई अलग-अलग टीमों में से एक को संदिग्ध अमित और रजनी के घर की तलाशी के निर्देश दिए गए थे। टीम द्वारा क्या कार्रवाई की गई है, इस संबंध में पुख्ता जानकारी हासिल नहीं हो सकी है।

भोगांव के नवोदय विद्यालय में कक्षा 11 में पढ़ने वाली छात्रा की 16 सितंबर 2019 को संदिग्ध परिस्थिति में मौत के मामले में एडीजी भानु भास्कर के निर्देशन में एसआईटी-2 जांच कर रही है। करीब छह माह का समय गुजर चुका है, लेकिन कार्रवाई के नाम पर सिर्फ तत्कालीन प्रधानाचार्या सुषमा सागर को जेल भेजा जा सका है। 

पूर्व मंत्री के बेटे को हो चुका है नार्को टेस्ट

मामले में वादी पक्ष के बयान पर पूर्व कैबिनेट मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री के पुत्र अंकुर अग्निहोत्री सहित दो लोगों के नार्को टेस्ट हो चुके हैं, वहीं दो के टेस्ट की प्रक्रिया अहमदाबाद गांधीनगर में चल रही है। इन सबके बीच एडीजी ने मार्च में एसआईटी में कार्य विभाजन किया था। तीन टीमों को अलग-अलग काम सौंप गए थे।

संबंधित खबर- मैनपुरी छात्रा हत्याकांड: नवोदय में 14 सितंबर को सक्रिय थे 928 मोबाइल नंबर, एसआईटी खंगाल रही डिटेल 

सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार एक टीम को दो संदिग्ध अमित और रजनी के घर की तलाशी के लिए निर्देशित किया गया। यह दोनों कौन हैं और मामले से क्या संबंध है? इन सवालों के जवाब नहीं मिल सके हैं। जिस तरह से उनके घर की तलाशी की बात कही गई है। उससे लगता है कि दोनों इस मामले में एसआईटी के रडार पर हैं। इनके घरों की तलाशी को लेकर कोई कार्रवाई की गई है या नहीं इसको लेकर एसआईटी ने मीडिया को जानकारी नहीं दी है।

विस्तार

मैनपुरी के जवाहर नवोदय विद्यालय भोगांव की छात्रा की कथित हत्या व दुष्कर्म के मामले में एसआईटी के सामने दो संदिग्धों के नाम प्रकाश में आए हैं। एडीजी द्वारा गठित की गई अलग-अलग टीमों में से एक को संदिग्ध अमित और रजनी के घर की तलाशी के निर्देश दिए गए थे। टीम द्वारा क्या कार्रवाई की गई है, इस संबंध में पुख्ता जानकारी हासिल नहीं हो सकी है।

भोगांव के नवोदय विद्यालय में कक्षा 11 में पढ़ने वाली छात्रा की 16 सितंबर 2019 को संदिग्ध परिस्थिति में मौत के मामले में एडीजी भानु भास्कर के निर्देशन में एसआईटी-2 जांच कर रही है। करीब छह माह का समय गुजर चुका है, लेकिन कार्रवाई के नाम पर सिर्फ तत्कालीन प्रधानाचार्या सुषमा सागर को जेल भेजा जा सका है। 

पूर्व मंत्री के बेटे को हो चुका है नार्को टेस्ट

मामले में वादी पक्ष के बयान पर पूर्व कैबिनेट मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री के पुत्र अंकुर अग्निहोत्री सहित दो लोगों के नार्को टेस्ट हो चुके हैं, वहीं दो के टेस्ट की प्रक्रिया अहमदाबाद गांधीनगर में चल रही है। इन सबके बीच एडीजी ने मार्च में एसआईटी में कार्य विभाजन किया था। तीन टीमों को अलग-अलग काम सौंप गए थे।

संबंधित खबर- मैनपुरी छात्रा हत्याकांड: नवोदय में 14 सितंबर को सक्रिय थे 928 मोबाइल नंबर, एसआईटी खंगाल रही डिटेल 

सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार एक टीम को दो संदिग्ध अमित और रजनी के घर की तलाशी के लिए निर्देशित किया गया। यह दोनों कौन हैं और मामले से क्या संबंध है? इन सवालों के जवाब नहीं मिल सके हैं। जिस तरह से उनके घर की तलाशी की बात कही गई है। उससे लगता है कि दोनों इस मामले में एसआईटी के रडार पर हैं। इनके घरों की तलाशी को लेकर कोई कार्रवाई की गई है या नहीं इसको लेकर एसआईटी ने मीडिया को जानकारी नहीं दी है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.