मनरेगा, श्रमिक परिवारों को 100 दिन काम देने में यूपी देश में अव्वल, 1900 करोड़ रुपये सरकार से मिले

लखनऊ। कोरोना महामारी के दौर से ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा के तहत रोजगार देने और इसके माध्यम से गांवों के विकास को तेज करने की दिशा में लगातार रिकार्ड बन रहे हैं। चालू वित्तीय वर्ष के पहले ही चार महीने में प्रदेश में 34502 परिवारों को मनरेगा के तहत 100 दिन काम दिए जाने का रिकार्ड बना है। दूसरे नंबर पर आंध्र प्रदेश है जहां इस अवधि में 19908 परिवारों को 100 दिन काम दिया जा सका है। 

प्रदेश में लगातार बड़ी संख्या में मजदूर काम कर रहे हैं। पहले बारिश शुरू होते ही ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा का काम करीब-करीब बंद हो जाया करता था, अब ऐसा नहीं है। शुक्रवार 5 अगस्त को भी मनरेगा के तहत राज्य में 16 लाख 6000 मजदूर काम पर लगे थे। मनरेगा मजदूरों की बड़ी संख्या इस समय राज्य में अमृत सरोवरों के विकास में लगी है। शुक्रवार को ही मनरेगा मजदूरों की मजदूरी मद में भारत सरकार से 1900 करोड़ रुपये आया। 

ये भी पढ़ें: दो साल में इतना बन गया श्रीराम का मंदिर, ट्रस्‍ट ने दिखाया अभी तक का काम; 1 महीने में दिखने लगेंगे गर्भगृह के खंभे

चार महीने में ही 3196.61 करोड़ मजदूरी में हुआ भुगतान

-वर्ष 2022-23 में अप्रैल से जुलाई 3196.61 करोड़ रुपये 

-सामग्री मद में अप्रैल से जुलाई तक 1950.53 करोड़ रुपये खर्च 

-वर्ष 2021-22 में सामग्री के मद में सिर्फ 666.49 करोड़ भुगतान हुआ।

-वर्ष 2021-22 में कुल 6596.37 करोड़ रुपये मजदूरी का भुगतान हुआ।

-वर्ष 2021-22 सामग्री मद में 1813.63 करोड़ रुपये का भुगतान हुआ 

प्रतिदिन करीब 27 करोड़ खर्च होता है मजदूरी मद में

अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार का कहना है कि राज्य में प्रतिदिन मनरेगा के तहत मजदूरी में करीब 27 करोड़ रुपये खर्च होता है। पूरे साल में मनरेगा के तहत मजदूरी मद में 8500 करोड़ रुपये खर्च होने हैं। परिवारों को 100 दिन काम देने का सबसे अधिक लाभ संबंधित परिवार के उस व्यक्ति को होता है जो अकेले 90 दिन काम कर लेता है। उन्हें श्रम विभाग की 15 योजनाओं का लाभ मिलने लगता है। बीते वित्तीय वर्ष में 7.35 लाख परिवारों ने 100 दिन काम किया था। 

राज्य             100 दिन काम करने वाले कुल परिवार

उत्तर प्रदेश        34502

आंध्रप्रदेश         19908

राजस्थान          18401

मध्यप्रदेश         17927

बिहार               6302

झारखंड           1459

(2022-23 में अप्रैल से जुलाई के बीच देश मे 2 लाख 17 हजार 879 मनरेगा मजदूर परिवार को 100 दिन काम दे दिया गया था।)

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.