भाजपा सांसद का अनूठा सफर: बागपत में बड़ौत से खेकड़ा तक ट्रेन में यात्रियों संग किया सफर, मुसाफिरों की सुनी समस्याएं

सार

सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह ने रेल में न केवल यात्रियों के साथ सफर किया, बल्कि उनकी समस्याएं भी जानीं। उन्होंने रेल मंत्री से मिलकर जल्द से जल्द सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने का आश्वासन दिया। सफर में युवाओं से लेकर बुजुर्गो तक ने सांसद के साथ सेल्फी भी ली।

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के बागपत से सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह ने बुधवार को बड़ौत से खेकड़ा तक दिल्ली-सहारनपुर रेलवे मार्ग पर चलने वाली ट्रेन में अलग-अलग बोगियों में जाकर यात्रा कर रहे मुसाफिरों से रेलवे की सुविधाओं और शिकायतों के बारे में पूछा। इस दौरान कई लोगों ने यात्रा के दौरान आने वाली दिक्कतों से सांसद को अवगत कराया। सफर में बच्चों से लेकर बुजुर्गो तक सभी सांसद के साथ सेल्फी लेते हुए भी दिखाई दिए। वहीं सांसद ने रेल मंत्री के समक्ष यात्रियों की समस्याएं रखकर उनका जल्द से जल्द निस्तारण कराए जाने का आश्वासन दिया।

बुधवार सुबह 7:35 बजे सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ नगर के रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। जहां पर उन्होंने रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। यह देख काफी संख्या में यात्री उनके पास पहुंचे और उन्हें एक के बाद एक समस्याएं गिनानी शुरू कर दीं। यात्रियों ने स्टेशन पर एक मात्र टिकट खिड़की खुलने, ई-टिकट मशीन खराब होने, टिकट आरक्षण व्यवस्था आए दिन ठप रहने, कैंटीन की सुविधा न मिलने व स्टेशन परिसर में बनाए गए नए शौचालय पर हर समय ताला लटकने पर रोष जताया।

इस पर सांसद ने स्टेशन अधीक्षक सुधीर शर्मा को बुलाकर पहले जमकर फटकार लगाई और फिर व्यवस्था को तुंरत दुरूस्त करने के निर्देश दिए। तभी शामली से दिल्ली की ओर जाने वाली डीएमयू ट्रेन नंबर 04466 तकरीबन 7:50 मिनट पर स्टेशन पर पहुंच गई, जिसमें बागपत सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह सवार हो गए। जहां पर सांसद ने अलग-अलग बोगियों में जाकर यात्रियों की समस्याएं सुनी और रेल मंत्री से मिलकर उनका जल्द निस्तारण कराए जाने का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़ें: बाल-सुधार गृह से किशोर फरार: पहरे पर बैठे थे होमगार्ड, तीनों ने चकमा देकर कूदी दीवार, अब होगी ये बड़ी कार्रवाई

ट्रेन के सफर के दौरान यात्रियों ने रखीं ये समस्याएं

कोरोना काल में बंद हुई ट्रेनों का जल्द हो संचालन
कासिमपुर खेड़ी गांव के रहने वाले अनिल ने सांसद के समक्ष मांग रखी कि कोरोना काल के दौरान जो ट्रेनें बंद हो गईं थी, उनका संचालन दोबारा जल्द से जल्द कराया जाए।

शौचालय की नियमित हो साफ-सफाई
बड़ौत नगर निवासी अंकुर ने सांसद के सामने ट्रेनों के अंदर बने शौचालय की नियमित रूप से साफ-सफाई न होने की समस्या रखी।

ट्रेनों का बिगड़ा समय हो ठीक
बड़ौत नगर निवासी महिला यात्री सुदेश ने कहा कि इस रूट पर ट्रेनों का समय पूरी तरह से बिगड़ा हुआ है। जिस कारण डयूटी करने वाले यात्रियों को रोजाना डयूटी पर समय से पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में जो ट्रेनें इस समय इस रूट पर संचालित है उनका समय बिल्कुल ठीक कराया जाए।

इस रूट पर बढ़ाई जाए ट्रेनों की संख्या
गांधी गांव के रहने वाले ओमकार शर्मा ने कहा कि कोरोना काल से पूर्व इस रूट पर अप-डाउन के लिए लगभग 26 ट्रेन थीं, लेकिन अब मात्र 10 ट्रेनें ही संचालित हैं। ऐसे में बंद हुई 16 ट्रेनों का संचालन जल्द से जल्द हो ताकि यात्रियों को राहत मिले।

स्टेशन पर हो पेयजल की व्यवस्था
बड़ौत के दुड़भा गांव के रहने वाले दैनिक यात्री अनुज शर्मा ने कहा कि ट्रेन जगह-जगह रूकती है। डीएमयू ट्रेन के अंदर एकमात्र शौचालय है, जिससे यात्रियों को दिक्कतें हो रही हैं। ऐसे में ट्रेनों की स्पीड़ भी बढ़ाई जाए और इस रूट पर इलेक्ट्रानिक ट्रेनों का संचालन हो।

ये बोले सांसद  
सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह ने कहा कि उनहोंने ट्रेनों में यात्रियों के साथ सफर किया और उनकी समस्याओं से अवगत हुए। बताया कि बड़ौत रेलवे स्टेशन पर टिकट खिड़की कम है और ये खिड़की समय पर नहीं खुलती है, शौचालय को बंद रखा जाता है। इस पर स्टेशन अधीक्षक सुधीर शर्मा को हिदायत दी गई है। बताया कि ट्रेन के अंदर यात्रियों ने समस्याएं रखी कि जैसे-जैसे ट्रेन दिल्ली की ओर चलती है तो उसमेें भीड़ बढ़ने लगती है।

इसलिए लोगो की मांग है कि ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जाए। बहुत से यात्रियों ने बताया कि डीएमयू ट्रेन बड़ौत से दिल्ली जाने में दो से ढ़ाई घंटे लगा देती है, यानी साढ़े दस बजे लगभग दिल्ली पहुंचती है। सरकारी कार्यालय मेें जाने वाले लोग समय पर नहीं पहुंच पाते हैं।

बताया कि एक ट्रेन सात बजे चलती है, एक ट्रेन आठ बजे चलती है और नौ बजे तक ट्रेनों को दिल्ली पहुंचना चाहिए, लेकिन वह साढ़े दस बजे तक पहुंचती है। उधर दिल्ली की ओर से एक ट्रेन छह बजे है और एक ट्रेन आठ बजे है, सात बजे कोई ट्रेन नहीं है। ऐसे में सात बजे भी ट्रेन चलनी चाहिए और इस रूट का जल्द दोहरीकरण कराकर रेपिड ट्रेन का संचालन होना चाहिए। कहा कि इन सभी समस्याओं से जल्द ही रेल मंत्री को अवगत कराया जाएगा और यात्रियों की समस्याएं हल कराई जाएंगी।

विस्तार

उत्तर प्रदेश के बागपत से सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह ने बुधवार को बड़ौत से खेकड़ा तक दिल्ली-सहारनपुर रेलवे मार्ग पर चलने वाली ट्रेन में अलग-अलग बोगियों में जाकर यात्रा कर रहे मुसाफिरों से रेलवे की सुविधाओं और शिकायतों के बारे में पूछा। इस दौरान कई लोगों ने यात्रा के दौरान आने वाली दिक्कतों से सांसद को अवगत कराया। सफर में बच्चों से लेकर बुजुर्गो तक सभी सांसद के साथ सेल्फी लेते हुए भी दिखाई दिए। वहीं सांसद ने रेल मंत्री के समक्ष यात्रियों की समस्याएं रखकर उनका जल्द से जल्द निस्तारण कराए जाने का आश्वासन दिया।

बुधवार सुबह 7:35 बजे सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ नगर के रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। जहां पर उन्होंने रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। यह देख काफी संख्या में यात्री उनके पास पहुंचे और उन्हें एक के बाद एक समस्याएं गिनानी शुरू कर दीं। यात्रियों ने स्टेशन पर एक मात्र टिकट खिड़की खुलने, ई-टिकट मशीन खराब होने, टिकट आरक्षण व्यवस्था आए दिन ठप रहने, कैंटीन की सुविधा न मिलने व स्टेशन परिसर में बनाए गए नए शौचालय पर हर समय ताला लटकने पर रोष जताया।

इस पर सांसद ने स्टेशन अधीक्षक सुधीर शर्मा को बुलाकर पहले जमकर फटकार लगाई और फिर व्यवस्था को तुंरत दुरूस्त करने के निर्देश दिए। तभी शामली से दिल्ली की ओर जाने वाली डीएमयू ट्रेन नंबर 04466 तकरीबन 7:50 मिनट पर स्टेशन पर पहुंच गई, जिसमें बागपत सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह सवार हो गए। जहां पर सांसद ने अलग-अलग बोगियों में जाकर यात्रियों की समस्याएं सुनी और रेल मंत्री से मिलकर उनका जल्द निस्तारण कराए जाने का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़ें: बाल-सुधार गृह से किशोर फरार: पहरे पर बैठे थे होमगार्ड, तीनों ने चकमा देकर कूदी दीवार, अब होगी ये बड़ी कार्रवाई

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.