बिहार में अग्निपथ प्रदर्शन का नक्सली कनेक्शन? गिरफ्तार कुख्यात नक्सली से पूछताछ में हो सकता है खुलासा


जांच में यह भी सामने आया है कि इस नक्सली के शहर के आधा दर्जन नेताओं के साथ भी कनेक्शन है.

पटना:

बिहार के लखीसराय जिले में एक अंतरराज्यीय कुख्यात नक्सली मनश्याम दास को गिरफ्तार किया गया है. कुख्यात नक्सली मनश्याम दास उर्फ राहुल, उर्फ सुदामा, उर्फ सुरेश ने गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में कई खुलासे किए हैं. अग्निपथ योजना के विरोध में लखीसराय में ट्रेन जलाने में भी नक्सली कनेक्शन सामने आया है. पुलिस सभी बिंदूओं पर जांच कर रही है.

यह भी पढ़ें

यह नक्सली बिहार, झरखंड, बंगाल और तेलंगाना राज्य में नक्सली संगठन के शीर्ष नेताओं से सीधा संपर्क में रहकर नक्सल गतिविधियों को अंजाम दे रहा था. यह लखीसराय शहर में ही कई वर्षों से रह रहा था. इसकी शहरी क्षेत्र से गिरफ्तारी पुलिस के सूचना तंत्र पर भी कई सवाल खड़े किए हैं. हालांकि, पुलिस इस कुख्यात नक्सली की गिरफ्तारी को बड़ी उपलब्धि बता रही है. लेकिन बड़ा सवाल है कि शहर के गोसाईं टोला में एक घर में किरायेदार बनकर यह तीन साल से रह रहा था, जहां से ये नक्सली गतिविधियों का संचालन कर रहा था. लेकिन जिले की पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी.

tsokfn1g

एसपी पंकज कुमार के मुताबिक, नक्सली मनश्याम दास की गिरफ्तारी स्पेशल इंटेलिजेंस ब्यूरो, तेलंगाना की सूचना पर गोसाईं टोला से की गई है. उसके कमरे से मोबाइल फोन, नक्सली साहित्य सहित कई संदिग्ध सामान भी मिला है.

छत्तीसगढ़ : दंतेवाड़ा में मुठभेड़ में पांच लाख रुपये का इनामी नक्सली ढेर

गिरफ्तार नक्सली बिहार, झारखंड, बंगाल और तेलंगाना राज्यों में स्पेशल एरिया संगठन के शीर्ष नेता प्रवेश दा, अरविद यादव, करम दा उर्फ विवेक सहित बड़े नेताओं के संपर्क में रहता था. उनके लिए कुरियर का काम करता था. लखीसराय शहर में रहकर जिले के जंगलों में जाकर संगठन के नेताओं से मिलता था.

जांच में यह भी सामने आया है कि इस नक्सली से शहर के आधा दर्जन नेताओं का भी कनेक्शन है.

बिहार: मुठभेड़ में हार्डकोर नक्सली कमांडर ढेर, भारी मात्रा में हथियार बरामद

एसपी ने सात ही बताया कि जो भी जानकारियां मिली है उसकी जांच कराई जाएगी. एसपी ने बताया कि साल 2019 में झारखंड के गिरिडीह में हुई एक नक्सली वारदात में गिरफ्तार नक्सली बालवीर महतो उर्फ रौशन उर्फ बिप उर्फ बाराती उर्फ प्रेमचंद ने नक्सली मनश्याम दास के बारे में हार्डकोर नक्सली सदस्य रहने की जानकारी दी थी.

कभी बंदूक उठाने वाले हाथ बस्तर में आज पर्यटकों के स्वागत के लिए खड़े हो रहे हैं



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.