बारिश बनी चारधाम यात्रा में बाधा: खचड़ा नाले में जलस्तर बढ़ा, पहाड़ी से गिरे पत्थर, रोके गए बदरीनाथ जा रहे 800 यात्री


सार

बारिश के कारण लामबगड़ के समीप खचड़ा नाले में पहाड़ी से पत्थर गिरने शुरू हो गए। जिसके चलते पुलिस प्रशासन ने वाहनों की आवाजाही रोक दी। रात साढ़े आठ बजे तक भी पहाड़ी से पत्थर गिरने का सिलसिला जारी था।

ख़बर सुनें

भारी बारिश ने चारधाम यात्रा में बाधा पैदा कर दी। बदरीनाथ हाईवे पर खचड़ा नाले में जलस्तर बढ़ गया और पहाड़ी से पत्थर गिरने लगे। एहतियातन पुलिस प्रशासन ने बदरीनाथ धाम जा रहे करीब 800 तीर्थयात्रियों को पांडुकेश्वर बैरियर पर रोक दिया है। अब तीर्थयात्रियों को मौसम साफ होने पर ही आगे रवाना किया जाएगा। तीर्थयात्रियों के ठहरने और खान-पान की व्यवस्था गोविंदघाट गुरुद्वारे में की गई है। 

बदरीनाथ धाम से लेकर जोशीमठ तक भारी बारिश बारिश हो रही है। सोमवार शाम चार बजे से बदरीनाथ और लामबगड़ क्षेत्र में रुक-रुककर बारिश हो रही है। शाम छह बजे से लामबगड़ के समीप खचड़ा नाले में पहाड़ी से पत्थर गिरने शुरू हो गए। इस पर पुलिस प्रशासन ने वाहनों की आवाजाही रोक दी। रात साढ़े आठ बजे तक भी पहाड़ी से पत्थर गिरने का सिलसिला जारी था।

इस पर पुलिस ने करीब 800 तीर्थयात्रियों को पांडुकेश्वर में ही रोक दिया। पुलिस ने लाउडस्पीकर से तीर्थयात्रियों को पांडुकेश्वर और गोविंदघाट में होटल व धर्मशालाओं में ठहरने के लिए कहा। कई तीर्थयात्रियों को गोविंदघाट में स्थित गुरुद्वारे में ठहरने के लिए निशुल्क कमरे उपलब्ध कराए गए हैं।

ये भी पढ़ें…बदरीनाथ में बारिश, ऊंची चोटियों पर बर्फबारी: यात्रियों ने खुशनुमा मौसम में किए बदरीविशाल के दर्शन, तस्वीरें 

इधर, बदरीनाथ धाम की ओर से भी तीर्थयात्रियों को जोशीमठ जाने से रोक लिया गया है। बदरीनाथ थाने के थानाध्यक्ष केसी भट्ट ने बताया कि खचड़ा नाले में रुक-रुककर पत्थर गिर रहे हैं। मंगलवार को मौसम खुलने पर यात्रियों को धाम जाने दिया जाएगा।

विस्तार

भारी बारिश ने चारधाम यात्रा में बाधा पैदा कर दी। बदरीनाथ हाईवे पर खचड़ा नाले में जलस्तर बढ़ गया और पहाड़ी से पत्थर गिरने लगे। एहतियातन पुलिस प्रशासन ने बदरीनाथ धाम जा रहे करीब 800 तीर्थयात्रियों को पांडुकेश्वर बैरियर पर रोक दिया है। अब तीर्थयात्रियों को मौसम साफ होने पर ही आगे रवाना किया जाएगा। तीर्थयात्रियों के ठहरने और खान-पान की व्यवस्था गोविंदघाट गुरुद्वारे में की गई है। 

बदरीनाथ धाम से लेकर जोशीमठ तक भारी बारिश बारिश हो रही है। सोमवार शाम चार बजे से बदरीनाथ और लामबगड़ क्षेत्र में रुक-रुककर बारिश हो रही है। शाम छह बजे से लामबगड़ के समीप खचड़ा नाले में पहाड़ी से पत्थर गिरने शुरू हो गए। इस पर पुलिस प्रशासन ने वाहनों की आवाजाही रोक दी। रात साढ़े आठ बजे तक भी पहाड़ी से पत्थर गिरने का सिलसिला जारी था।

इस पर पुलिस ने करीब 800 तीर्थयात्रियों को पांडुकेश्वर में ही रोक दिया। पुलिस ने लाउडस्पीकर से तीर्थयात्रियों को पांडुकेश्वर और गोविंदघाट में होटल व धर्मशालाओं में ठहरने के लिए कहा। कई तीर्थयात्रियों को गोविंदघाट में स्थित गुरुद्वारे में ठहरने के लिए निशुल्क कमरे उपलब्ध कराए गए हैं।

ये भी पढ़ें…बदरीनाथ में बारिश, ऊंची चोटियों पर बर्फबारी: यात्रियों ने खुशनुमा मौसम में किए बदरीविशाल के दर्शन, तस्वीरें 

इधर, बदरीनाथ धाम की ओर से भी तीर्थयात्रियों को जोशीमठ जाने से रोक लिया गया है। बदरीनाथ थाने के थानाध्यक्ष केसी भट्ट ने बताया कि खचड़ा नाले में रुक-रुककर पत्थर गिर रहे हैं। मंगलवार को मौसम खुलने पर यात्रियों को धाम जाने दिया जाएगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.