पीलीभीत विस्फोट: 10.20 क्विंटल विस्फोटक बरामद, अजीम बेग और उसका बेटा गिरफ्तार, मामले में हुआ बड़ा खुलासा


आतिशबाजी के कारोबारी अजीम बेग के जिस घर में 2 अगस्त को विस्फोट हुआ था अब उससे ही लगे खपरैल नुमा मकान में पुलिस ने बम निरोधक दस्ते के साथ 10.20 क्विंटल विस्फोटक सामग्री बरामद की है। अजीम बेग और उसके बेटे तस्लीम को गिरफ्तार किया गया है। 

जहानाबाद के जोशी टोला में अजीम बेग के  घर विस्फोट होने पर तीन  जानें गईं थीं। तीनों  निशा (17) , सानिया (15) और नगमा (18), अजीम बेग की बेटियां है। पुलिस ने इस मामले में अब कार्रवाई का शिकंजा कसा है। अजीम बेग के खिलाफ अवैध तरीके से विस्फोटक सामग्री रखने का मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके साथ ही घनी आबादी के बीच बने अजीम बेग के मकान से लगे खपरैलनुमा घर से बुधवार देर रात बरेली से आए बम निरोधक दस्ता ने विस्फोटक सामग्री बरामद की।

बरामदगी से अनुमान लगाया जा रहा है कि लंबे समय से अजीम बेग के घर पर ही आतिशबाजी बनाने का काम चला रहा था। पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी के साथ पहुंचे बरेली पीएसी के बम निरोधक दस्ते ने प्लास्टिक के छह कट्टों में तीन क्विंटल सफेद पाउडर, दो कट्टों में एक क्विंटल चमकीला पाउडर, 20 बोरों में पांच क्विंटल वजन के पटाखा (तिकोना पटाखा) बने हुए मिले।

तीन पेटी में 1.20 क्विंटल वजन के पटाखा बरामद किए। कुल सामग्री दस क्विंटल बीस किलोग्राम बरामद की गई है। पूरी विस्फोटक सामग्री को नष्ट कराया गया है। 

 

पुलिस अधीक्षक सुरक्षा से लखनऊ बात करके बरेली से पीएसी की 8वीं बटालियन के बम निरोधक दस्ते को बुलाकर रात में अजीम के घर के चारों ओर घेराबंदी की गई। पुलिस टीम के साथ बम निरोधक दस्ते ने विस्फोटक सामग्री बरामद की। इसे सुरक्षित तरीके से नष्ट कराया गया। प्रारंभिक जांच में अवैध तरीके से विस्फोटक सामग्री घर रखने की पुष्टि हो गई है। पुलिस ने पिता अजीम बेग और उसके पुत्र तस्लीम को गिरफ्तार किया गया। दोनों को गुरुवार को जेल भेजा गया है।– दिनेश कुमार पी, पुलिस अधीक्षक

 

फील्ड यूनिट ने लिए विस्फोटक सामग्री के नमूने

पुलिस ने 10.20 क्विंटल विस्फोटक सामग्री जो बरामद की है, उसके नूमने लिए गए हैं। जांंच विधि विज्ञान प्रयोगशाला लखनऊ में होगी। जांच से पता लगेगा कि यह विस्फोटक सामग्री कौन सी है। इसकी क्षमता क्या है। इसके बाद पुलिस की विवेचना और आगे बढ़ेगी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.