दिल्ली में कोरोना ने बढ़ाई टेंशन, बीते 6 महीने में पहली बार आए सबसे ज्यादा 2419 नए मामले


दिल्ली में कोरोना ने फिर बढ़ाई टेंशन

नई दिल्ली:

दिल्ली में कोरोना एक बार फिर टेंशन बढ़ा रहा है. शुक्रवार को राजधानी में कुल 2419 नए मामले सामने आए हैं, जो बीते छह महीने में सबसे ज्यादा हैं. इससे पहले 3 फरवरी को सबसे ज्यादा 2668 मामले दर्ज किए थे. वहीं, बीते चौबीस घंटे में दिल्ली में कोरोना संक्रमण दर 12.95 फीसदी हो गई है. इससे पहले 23 जनवरी को संक्रमण की दर 13.32 फीसदी दर्ज की गई थी. बात अगर सक्रिय मरीजों की संख्या की करें तो फिलहाल राजधानी में ऐसे मरीजों की कुल संख्या 6876 है. जबकि बीते चौबीस घंटे में दो लोगों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी है.

यह भी पढ़ें

बता दें कि बीते बुधवार को भी राजधानी में कोरोना संक्रमण के 2, 073 नए केस दर्ज किए गए थे, वहीं पांच लोगों इस वायरस के कारण जान गंवानी पड़ी थी. इस समय यहां पॉजिटिविटी रेट 11.64% था. ;यह लगातार तीसरा दिन है जब दिल्‍ली में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से ज्‍यादा दर्ज किया गया था.पिछले 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 17,815 टेस्ट किए गए और 1437 मरीज ठीक हुए. इस वक्त दिल्ली में कोरोना के 5637 एक्टिव मरीज हैं. बुधवार को संक्रमण के ताजा मामलों के साथ दिल्‍ली में कोरोना के मामलों की संख्‍या बढ़कर 19,60,172  हो गई थी जबकि देश की राजधानी में अब तक 26,321 लोगों की जान कोरोना संक्रमण के कारण हुई थी. बता दें, पिछले एक सप्‍ताह में दिल्‍ली में कोरोना केसों और पॉजिटिविटी रेट में इजाफे का ‘ट्रेंड’ दिखा है.

उधर, दिल्ली के अलावा अन्य राज्‍यों में भी कोरोना के केसों की संख्‍या में उछाल आया था. महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 1932 नये मामले सामने आये जबकि राज्य में संक्रमण से सात लोगों की मौत हो गई थी.स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, महाराष्‍ट्र में संक्रमण के नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 80,52,103 हो गई थी जबकि सात लोगों की मौत के बाद संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,48,117 पर पहुंच गई. बुलेटिन में कहा गया था कि पिछले 24 घंटे में मुंबई में 434 नये मामले सामने आये हैं. मध्‍य प्रदेश में बुधवार को कोरोनावायरस के 226 केस दर्ज हुए, इससे वहां कोरोना केसों की कुल संख्‍या  10,50,452 पहुंच गई है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.