दिल्ली: नरेला इलाके में एक प्लास्टिक फैक्टरी में लगी आग, मौके पर दमकल की 15 गाड़ियां


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: Vikas Kumar
Updated Sun, 15 May 2022 12:03 AM IST

सार

सूचना मिलने पर दमकल विभाग की 15 गाड़ियां आग पर काबू पाने पर जुट गई हैं। 

ख़बर सुनें

दिल्ली के नरेला इलाके में आग लगने की घटना हुई है। बताया जा रहा है कि आग एक प्लास्टिक की फैक्टरी में लगी है। सूचना मिलने पर दमकल विभाग की 15 गाड़ियां आग पर काबू पाने पर जुट गई हैं। फिलहाल इस बात की जानकारी नहीं मिली है कि यह आग कैसे लगी है। 

बता दें कि बीते 24 घंटे के अंदर दिल्ली में आगजनी की यह दूसरी घटना है। इससे पहले शुक्रवार को मुंडका इलाके में मेट्रो स्टेशन के पास स्थित तीन मंजिला व्यावसायिक इमारत में भीषण आग लग गई। हादसे में महिला समेत 27 लोगों की मौत हो गई, जबकि 12 लोग झुलस गए, जिन्हें ग्रीन कॉरिडोर बनाकर संजय गांधी अस्पताल भेजा गया। पुलिस ने इमारत के तीन मालिकों समेत पांच के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की है। जिसमें कहा गया है कि इमारत में बहुत बड़ी लापरवाहियां बरती जा रही थीं। 

30 तक पहुंच सकती है मृतकों की संख्या
फायर अधिकारी ने बताया कि हमें कुछ और अवशेष मिले हैं और ऐसा लगता है कि दो-तीन शव होंगे। ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 30 हो सकती है। इमारत में आग ने इसलिए तेजी पकड़ी क्योंकि यहां बहुत सारे प्लास्टिक के सामान थे। अधिकारी ने ये भी बताया कि जब आग लगी तो 50 लोगों की बैठक चल रही थी। चूंकि दरवाजा बंद था इसलिए वह अंदर ही फंस गए। राहत व बचाव कार्य खत्म हो चुका है।

 

विस्तार

दिल्ली के नरेला इलाके में आग लगने की घटना हुई है। बताया जा रहा है कि आग एक प्लास्टिक की फैक्टरी में लगी है। सूचना मिलने पर दमकल विभाग की 15 गाड़ियां आग पर काबू पाने पर जुट गई हैं। फिलहाल इस बात की जानकारी नहीं मिली है कि यह आग कैसे लगी है। 

बता दें कि बीते 24 घंटे के अंदर दिल्ली में आगजनी की यह दूसरी घटना है। इससे पहले शुक्रवार को मुंडका इलाके में मेट्रो स्टेशन के पास स्थित तीन मंजिला व्यावसायिक इमारत में भीषण आग लग गई। हादसे में महिला समेत 27 लोगों की मौत हो गई, जबकि 12 लोग झुलस गए, जिन्हें ग्रीन कॉरिडोर बनाकर संजय गांधी अस्पताल भेजा गया। पुलिस ने इमारत के तीन मालिकों समेत पांच के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की है। जिसमें कहा गया है कि इमारत में बहुत बड़ी लापरवाहियां बरती जा रही थीं। 

30 तक पहुंच सकती है मृतकों की संख्या

फायर अधिकारी ने बताया कि हमें कुछ और अवशेष मिले हैं और ऐसा लगता है कि दो-तीन शव होंगे। ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 30 हो सकती है। इमारत में आग ने इसलिए तेजी पकड़ी क्योंकि यहां बहुत सारे प्लास्टिक के सामान थे। अधिकारी ने ये भी बताया कि जब आग लगी तो 50 लोगों की बैठक चल रही थी। चूंकि दरवाजा बंद था इसलिए वह अंदर ही फंस गए। राहत व बचाव कार्य खत्म हो चुका है।

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.