ताजमहल में निशुल्क प्रवेश: एक दिन में 60 हजार पर्यटकों ने किया दीदार, 15 अगस्त तक नहीं लगेगा टिकट

आजादी के अमृत महोत्सव में ताजमहल समेत सभी स्मारकों में 15 अगस्त तक निशुल्क करने के आदेश के बाद पहले वीक एंड पर शनिवार को ताजमहल में भारी भीड़ रही। प्रवेश टिकट न होने के कारण शनिवार को मुख्य गुंबद पर प्रवेश के लिए कतार रही तो वहीं नीचे चमेली फर्श पर पूरा गोल चक्कर कतार में लगकर पर्यटकों को ऊपर गुंबद पर जाना पड़ा। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के अधिकारियों के मुताबिक करीब 60 हजार से ज्यादा पर्यटकों ने शनिवार को ताजमहल में प्रवेश किया।

 

शनिवार को ताजमहल के अंदर और बाहर सैलानियों का सैलाब उमड़ आया। इससे पहले ताज में प्रवेश के लिए 500 मीटर लंबी कतार में इंतजार करना पड़ा। लाइन में लगने से लेकर बाहर निकलने तक पर्यटकों को चार से पांच घंटे का समय लग गया। 

ताजमहल में चमेली फर्श और मुख्य गुंबद पर लगभग चार साल बाद ऐसी कतार नजर आई है। कोरोना काल से पहले क्रिसमस की छुट़्टियों में ऐसी भीड़ थी, जिसके बाद एएसआई ने प्रवेश शुल्क के बाद 200 रुपये का टिकट मुख्य गुंबद की कब्रें देखने के लिए लगा दिया था। तब गुंबद पर भीड़ में कमी आई थी, लेकिन निशुल्क होने के कारण शनिवार को 60 हजार से ज्यादा लोग ताज पर पहुंचे। 

एएसआई अधीक्षण पुरातत्वविद राजकुमार पटेल ने बताया कि वीक एंड पर भीड़ का आकलन करने के बाद जो समस्याएं आ रही हैं, उनके निदान की योजना बनाकर लागू की जाएगी। व्यवस्थाओं में सोमवार से कुछ बदलाव किए जा सकते हैं। अगर जरूरत पड़ी तो मुख्य गुंबद पर पर्यटकों का प्रवेश नियंत्रित किया जाएगा।

ताजमहल के अलावा आगरा किलो, सिकंदरा स्मारक, फतेहपुर सीकरी, एत्माद्दौला स्मारक में भी पर्यटकों को निशुल्क प्रवेश मिला, जिसके कारण पर्यटकों की भारी भीड़ उमड़ी।  बता दें कि पहली बार ऐसा हुआ है, जब इतनी लंबी अवधि तक ताजमहल में पर्यटकों का प्रवेश निशुल्क रखा गया है। 

अब आजादी के अमृत महोत्सव में आगरा के स्मारकों पर तिरंगामय लाइट की अद्भुत छटा बिखर रही है। आगरा किला, फतेहपुर सीकरी, एत्माद्दौला और सिकंदरा स्मारक को तिरंगे के रंग में रोशन किया गया है। शाम होते ही ये स्मारक जगमगा उठते हैं। ताजमहल सुरक्षा कारण से इस महोत्सव में शामिल नहीं किया गया है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.