ज्यादा देर तक बैठे रहते हैं तो हो जाएं सतर्क, हार्ट वीक होने के साथ हो सकती हैं ये परेशानियां

हाइलाइट्स

देर तक बैठे रहने से हो सकता है हार्ट कमजोर.
बॉडी को फिट और हेल्‍दी रखने के लिए वॉक करें.
बैठे रहने से बढ़ सकता है कैंसर होने का भी खतरा.

Sitting For Long Time Cause Health Issues: वर्क फ्रॉम होम और बढ़ते वर्क कल्‍चर की वजह से लोगों में एंजाइटी, तनाव और मेंटल हेल्‍थ पर गहरा प्रभाव पड़ा है. घंटों तक एक ही जगह बैठे रहना इन दिनों लोगों की मजबूरी हो गई है. इस मजबूरी की वजह से न सिर्फ बॉडी पोश्‍चर पर बल्कि हार्ट हेल्‍थ पर भी बुरा प्रभाव देखा जा र‍हा है. जेएएमए ऑन्‍कोलॉजी की रिसर्च के अनुसार लंबे समय त‍क बैठे रहने वाले लोगों में हार्ट प्रॉब्‍लम और कैंसर का खतरा 80 प्रतिशत बढ़ जाता है. वहीं एक्टिव रहने वाले व्‍यक्ति अधिक स्‍वस्‍थ और एनर्जेटिक होते हैं. बैठे रहने से ए‍क नहीं बल्कि कई हेल्‍थ समस्‍याओं को बढ़ावा मिलता है. चलिए जानते हैं अधिक देर तक बैठे रहने से किन हेल्‍थ इशूज का सामना करना पड़ सकता है.

उम्र कम होना
एक ही जगह देर तक बैठना व्‍यक्ति की उम्र पर नकारात्‍मक प्रभाव डाल सकता है. वेब एमडी के अनुसार यदि कोई व्‍यक्ति दिन का अधिकतर समय बैठे रहने में निकाल देता है तो उसकी उम्र कम हो सकती है. बैठे रहने से हार्ट प्रॉब्‍लम, कैंसर और मोटापे जैसी समस्‍याएं घेर सकती हैं. जो लोग एक्‍सरसाइज और वॉकिंग नहीं करते वह दूसरों की तुलना में कम जीते हैं.



हो सकता है डिमेंशिया

देर तक बैठे रहने की वजह से मा‍नसिक समस्‍या जैसे डिमेंशिया होने का खतरा अधिक बढ़ जाता है. लगातार स्‍क्रीन देखना और सोचते रहने से मस्तिष्‍क पर प्रभाव पड़ता है जिस वजह से मानसिक विकार हो सकता है. जो व्‍यक्ति बैठे रहने के साथ एक्‍सरसाइज और वॉक करते हैं वह स्‍वस्‍थ रहते हैं.

डीवीटी की समस्‍या
डीप वेन थ्रॉम्‍बोसिस (डीवीटी) की समस्‍या पैरों में ब्‍लड क्‍लॉट होने की वजह से होती है. ज्‍यादा देर तक पैरों को लटकाकर बैठना या पैरों का कम मूवमेंट होना इस समस्‍या को बढ़ा सकता है. पैरों में सूजन और दर्द इसके सामान्‍य लक्षण हो सकते हैं. कई बार डीवीटी की समस्‍या इतनी बढ़ जाती है कि ये पैरों से लंग्‍स तक पहुंच जाती है. लंग्‍स में ब्‍लड क्‍लॉट्स हो जाते हैं.

यह भी पढ़ें: Mental Health- फिर बिगड़ने लगी दिमागी सेहत, 30% तक बढ़े डिप्रेशन के केस

हार्ट प्रॉब्‍लम्‍स
एक्टिव न रहना या एक ही जगह पर अधिक देर तक बैठे रहने की वजह से हार्ट प्रॉब्‍लम का खतरा अधिक बढ़ जाता है. बैठे रहने से बॉडी में ब्‍लड सर्कुलेशन कम होता है जो हार्ट प्रॉब्‍लम्‍स का कारण बनता है. यही वजह है कि कम उम्र में लोगों को कार्डियक अरेस्‍ट जैसी समस्‍या का सामना करना पड़ रहा है. जो लोग खड़े रहकर या वॉक करते हुए काम करते हैं वह लोग अधिक हेल्‍दी रहते हैं.

यह भी पढ़ें: फिजिकल वर्कआउट के दौरान यह बड़ी गलती बनती है हाइपोथर्मिया और हाइपरथर्मिया की वजह, जानें कैसे..

मोटापा बढ़ना
मोटापा बढ़ने के कई कारण होते हैं जिसमें से अहम है बैठे रहना. बॉडी को अधिक देर तक रिलेक्‍स रखना या मूवमेंट न करना मोटापे का बढ़ावा देता है. मोबाइल, टीवी या लैपटॉप की स्‍क्रीन लोगों को बैठने पर मजबूर कर देती है इसलिए हर एक घंटे के बाद 10 मिनट वॉक जरूर करनी चाहिए. इससे बॉडी के साथ आंखों को भी आराम मिलता है.

Tags: Health, Heart Disease, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.