कहीं नए कपड़ों के साथ घर तो नहीं ले जा रहे हैं बीमारियां? चौंकिए मत पढ़िए

Image Source : FREEPIK
shopping

Highlights

  • आपसे पहले इ्न्हें कोई और भी ट्राय कर चुका होगा
  • नए कपड़े जब फैक्ट्री से बनकर एक जगह से दूसरी जगह जाते हैं तो इस दौरान कई सारे लोग उसे हाथ लगाते हैं

हर किसी को शॉपिंग करना बेहद पसंद होता है। शायद ही कोई हो जिसे शॉपिंग करना न पसंद हो। जिस पल हम कपड़ों को खरीदते हैं उस पल से ही उन्हें पहनने के लिए उत्सुकता होने लगती है और हम उन्हें झट-पट पहन लेते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाइए क्योंकि ये कई बीमारियों को न्योता दे सकता है। नए कपड़ों को पहनने से पहले हमेशा इन्हें धोना चाहिए, लेकिन ऐसा क्यों करना चाहिए इस लेख आज हम आपको बताएंगे तो चलिए जानते हैं इसके पीछे की वजह-

आपसे पहले कोई और भी कर चुका होगा ट्राय-

हम जब भी नए कपड़ों को खरीदते हैं तो अच्छी फिटिंग और कपड़ा आप पर कैसा लग रहा है ये देखने के लिए इसे ट्राई जरूर करते हैं, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आपकी तरह ही किसी और ने भी इसे आपसे पहले पहना होगा। कई बार तो लोग पसीने, धूल और फोड़े-फुंसी होने के बावजूद मॉल और दुकानों में जाकर कपड़े ट्राय करते हैं और फिर उन्हीं कपड़ों को आप भी पहनते हैं जिससे इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है और आप कपड़ों के साथ- साथ बीमारी भी साथ ले जाते हैं इसीलिए नए कपड़ों को धोना जरूरी होता है।

नए कपड़े में लग सकते हैं कीटाणु-

नए कपड़े जब फैक्ट्री से बनकर एक जगह से दूसरी जगह जाते हैं तो इस दौरान कई सारे लोग उसे हाथ लगाते हैं और साथ कितने अलग अलग तरीकों से होकर आते हैं। इसके साथ ही आपके लेने से पहले ना जाने कितने लोगों ने उसे ट्रॉय किया होगा जिससे लोगों के पसीने के साथ कीटाणु भी उन कपड़ों के साथ चिपक जाते हैं।

केमिकल का इस्तेमाल-

कपड़ो को जब पैक किया जाता है तो उसमे अलग तरह के केमिकल मिलाए जाते हैं ताकि उन्हें कीड़े ना खा जाएं या फिर उन्हें किसी तरह का नुकसान ना हो। ऐसे में कपड़ो की प्रोसेसिंग में कई तरह के केमिकल का प्रयोग होता है, जिसे अगर आप बिना धोए पहनते हैं तो आपको दाद,खाज या फिर खुजली की समस्या हो सकती है।

डाई कलर्स से हो सकती है परेशानी-

प्राकृतिक धागों का अपना कोई रंग नहीं होता, इसलिए उन्हें सुंदर रंगों में रंगा जाता है। कपड़ों की रंगाई, छपाई और डाई जैसी प्रक्रियाओं में उसपर विभिन्न प्रकार के केमिकल्स लगाए जाते हैं। ज़्यादातर रंगीन कपड़ों में ऐज़ो डाईस का इस्तेमाल किया जाता है। कपड़ा जितना रंगीन और चटक होगा उतना अधिक डाई उसमें इस्तेमाल किया जाएगा। ऐज़ो डाईस की वजह से त्वचा में बहुत अधिक जलन और परेशानी होती है जिसकी वजह है एलर्जी हो सकती है। इसीलिए नए कपड़ों को जरूर धोना चाहिए।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.