एनालिसिस: अश्विन के ओवर में आरसीबी ने पलट दिया मैच, 36 साल के दिनेश कार्तिक एक बार फिर बने संकटमोचक

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, मुंबई
Published by: रोहित राज
Updated Wed, 06 Apr 2022 08:25 AM IST


सार

मैच में आरसीबी की टीम ने चार आसान कैच टपकाए। विराट कोहली गलती से रनआउट हुए। ओपनर फाफ डुप्लेसिस एक बार फिर से नहीं चले। इसके बावजूद टीम को 36 साल के दिनेश कार्तिक और युवा शाहबाज अहमद ने जीत दिला दी।

राजस्थान रॉयल्स बनाम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

विस्तार

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) ने राजस्थान रॉयल्स को हराकर टूर्नामेंट में अपनी दूसरी जीत दर्ज की। दूसरी ओर, राजस्थान को पहली बार हार का सामना करना पड़ा। मैच में आरसीबी की टीम ने चार आसान कैच टपकाए। विराट कोहली गलती से रनआउट हुए। ओपनर फाफ डुप्लेसिस एक बार फिर से नहीं चले। इसके बावजूद टीम को 36 साल के दिनेश कार्तिक और युवा शाहबाज अहमद ने जीत दिला दी। कार्तिक ने यह साबित कर दिया कि क्यों उन्हें टी20 के खतरनाक बल्लेबाजों में शामिल किया जाता है। इस सीजन में उनका बल्ला जमकर बोल रहा है।

मैच में टर्निंग पॉइंट:

अश्विन का चौथा ओवर: आरसीबी ने 13 ओवर में पांच विकेट पर 88 रन बनाए थे। यहां से उसकी जीत मुश्किल नजर आ रही है। टीम को जीत के लिए 42 गेंदों पर 82 रन बनाने थे। पारी का 14वां लेकर अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन आए। यह उनके स्पेल के चौथा और आखिरी ओवर था। अश्विन की पहली दो गेंदों पर दो रन बने। इसके बाद तीसरी गेंद पर कार्तिक ने चौका लगाया। यह नो-बॉल करार दिया गया। अगली गेंद फ्री-हिट थी तो कार्तिक ने छक्का जड़ दिया। फिर चौथी और छठी गेंद पर कार्तिक ने चौका जड़कर मैच को पूरी तरह पलट दिया। अश्विन के इस ओवर में 21 रन बने। यह रनों के लिहाज से अश्विन के आईपीएल करियर का संयुक्त रूप से सबसे बड़ा ओवर था।


मैच में जीत दिलाने वाले कार्तिक के साथ कोहली। (फोटो- IPL/BCCI)

भरोसे पर खरे उतरे शाहबाज अहमद

ऑलराउंडर शाहबाज अहमद को आरसीबी ने नीलामी में 2.40 करोड़ रुपये में खरीदा था। उनका बेस प्राइस 30 लाख रुपये था। अहमद इस सीजन में काफी प्रभावशाली रहे हैं। उन्हें पहली बार आरसीबी ने 2020 में खरीदा था। उसके बाद से वे टीम के साथ हैं। शाहबाज ने इस सीजन में 27 और 45 रनों की उपयोगी पारी खेली हैं। नौ ओवर में चार विकेट गिरने के बाद अहमद क्रीज पर आए। उस समय टीम को 11 ओवरों में 108 रन बनाने थे।

शाहबाज ने यहां से पारी को संभाला। पहले शेरफेन रदरफोर्ड के साथ पांचवें विकेट के लिए 22 गेंदों पर 25 रनों की साझेदारी की। इसके बाद दिनेश कार्तिक के साथ 33 गेंदों पर 67 रन जोड़े। इस साझेदारी ने राजस्थान के हाथों से जीत छीन ली। अहमद ने 26 गेंदों पर 45 रन बनाए। इस दौरान चार चौके और तीन छक्के लगाए। उनका स्ट्राइक रेट 173.08 का रहा।

मैच के दौरान शॉट लगाते शाहबाज अहमद। (फोटो क्रेडिट: IPL/BCCI)
राजस्थान के लिए मैच में क्या-क्या हुआ?

सकारात्मक पक्ष: जोस बटलर का बल्ला एक बार फिर से चला। उन्होंने इस बार ओपनिंग से लेकर अंत तक बल्लेबाजी की। देवदत्त पडिक्कल और शिमरॉन हेटमायर ने उपयोगी रन बनाए। गेंदबाजी में युजवेंद्र चहल ने कमाल का प्रदर्शन किया। उन्होंने 3.80 की इकॉनमी से रन दिए और चार ओवर में दो विकेट लिए।

नकारात्मक पक्ष: यशस्वी जायसवाल एक बार फिर से फ्लॉप रहे। उन्हें लगातार मौके दिए जा रहे हैं, लेकिन वे बड़ी पारी खेलने में नाकाम हो रहे हैं। संजू सैमसन की बल्लेबाजी में एक बार फिर से निरंतरता की कमी देखने को मिल रही है। वे एक मैच में चलते हैं और अगले कुछ मैचों में उनका बल्ला खामोश हो जाता है। इस टीम की गेंदबाजी सबसे मजबूत है, लेकिन आरसीबी के खिलाफ इस मैच में चहल को छोड़कर सभी फ्लॉप रहे। खासकर नवदीप सैनी की लाइन और लेंथ दिखी ही नहीं। उनकी गेंदों पर सबसे ज्यादा रन बने। टीम मैनेजमेंट को इस दिशा में काम करने की जरूरत है।

युजवेंद्र चहल ने विराट कोहली को रनआउट किया। (फोटो क्रेडिट-IPL/BCCI)

आरसीबी के लिए मैच में क्या-क्या हुआ?

सकारात्मक पक्ष: हमेशा शीर्ष क्रम पर निर्भर रहने वाली आरसीबी के लिए इस सीजन में निचले क्रम के बल्लेबाज योगदान दे रहे हैं। यह टीम के लिए अच्छे संकेत हैं। फाफ डुप्लेसिस और अनुज रावत ने ओपनिंग में उपयोगी पारियां खेलीं। इसके बाद शाहबाज अहमद और दिनेश कार्तिक ने मैच को फिनिश किया। गेंदबाजी में डेविड विली ने वापसी की है। वहीं, हर्षल पटेल ने किफायती गेंदबाजी की। विली ने चार ओवर में 29 रन देकर एक विकेट लिए। हर्षल ने चार ओवर में 18 रन दिए और एक विकेट अपने नाम किया।

नकारात्मक पक्ष: टीम का मध्यक्रम इस मैच में नहीं चला। विराट कोहली पांच रन बनाकर रनआउट हुए। डेविड विली खाता नहीं खोल पाए और शेरफेन रदरफोर्ड सिर्फ पांच रन ही बना सके। गेंदबाजी में सिराज और आकाश दीप काफी महंगे साबित हुए। दोनों ने 10 से ज्यादा की इकॉनमी से रन लुटाए। हसरंगा ने भी चार ओवर में 32 रन दे दिए। किफायती गेंदबाजी करने वाले इस स्पिनर के लिए यह इकॉनमी ज्यादा है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.