उदयपुर में मंथन : कांग्रेस का तीन दिवसीय नव संकल्प चिंतन शिविर आज से, 400 से अधिक दिग्गज करेंगे शिरकत


सार

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि नव संकल्प चिंतन शिविर में अर्थव्यवस्था के लगातार पतन, बढ़ती आर्थिक विषमता, महंगाई और कृषि क्षेत्र को कुछ चुनिंदा समूहों के हवाले करने के गहरे षड्यंत्र पर भी विमर्श होगा।

ख़बर सुनें

कांग्रेस का तीन दिवसीय नव संकल्प चिंतन शिविर शुक्रवार से राजस्थान के उदयपुर में शुरू हो रहा है। कांग्रेस का चिंतन शिविर 13 से 15 मई तक चलेगा। चुनाव में लगातार हार का सामना कर रही पार्टी अपनी पुनर्संरचना और ध्रुवीकरण की राजनीति का मुकाबला करने के लिए रणनीति बनाएगी। शिविर में कांग्रेस के 400 से अधिक दिग्गज शिरकत करेंगे। 

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि नव संकल्प चिंतन शिविर में अर्थव्यवस्था के लगातार पतन, बढ़ती आर्थिक विषमता, महंगाई और कृषि क्षेत्र को कुछ चुनिंदा समूहों के हवाले करने के गहरे षड्यंत्र पर भी विमर्श होगा। साथ ही चीन के भारतीय क्षेत्र में घुसने, अनुसूचित जाति/जनजाति और अल्पसंख्यकों के अधिकारों पर हमले पर भी चर्चा की जाएगी।

राहुल गांधी ट्रेन से पहुंचेंगे उदयपुर
कांग्रेस नेता राहुल गांधी गुरुवार रात आठ बजे दिल्ली के सराय रोहिल्ला रेलवे स्टेशन से करीब 74 नेताओं के साथ उदयुपर आने के लिए ट्रेन से रवाना हो चुके हैं। वे यहां चिंतन शिविर में हिस्सा लेंगे। मेवाड़ एक्सप्रेस में राहुल गांधी सहित सभी नेताओं के लिए दो डिब्बे पहले से तैयार किए गए थे। 

राहुल गांधी शुक्रवार सुबह सात बजे उदयपुर सिटी रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे। यहां कांग्रेस नेताओं और पदाधिकारियों की ओर से उनका जोरदार स्वागत किया जाएगा। बताया जा रहा है कि उनके स्वागत के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित अन्य बड़े नेता भी स्टेशन आ सकते हैं। यहां से कारों के काफिले के साथ राहुल गांधी ताज अरावली पहुंचेंगे। ताज अरावली में ही चिंतन शिविर का आयोजन होगा। इसी होटल में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह सहित कई अन्य बड़े नेताओं के ठहरने की व्यवस्था की गई है। 

क्या रहेगा शिविर का कार्यक्रम?  
शुक्रवार दोपहर करीब दो बजे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संबोधन से चिंतन शिविर की शुरुआत होगी। इसके बाद नेताओं के बीच समूह संवाद शुरू होगा। यह शाम पांच बजे तक चलेगा। दूसरे दिन यानी शनिवार को सुबह 10:30 बजे से ही समूह संवाद शुरू हो जाएगा। यह करीब ढाई बजे तक चलेगा। इसके बाद रात में छह कमेटियों की बैठक होगी। 15 मई को आखिरी दिन 11 बजे से चिंतन शिविर के कार्यक्रम शुरू होंगे।   

पुलिस प्रशासन भी अलर्ट
कांग्रेस के चिंतन शिविर में भाग लेने के लिए 400 से ज्यादा नेता उदयपुर में जुटेंगे। उनकी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर राजस्थान पुलिस भी अलर्ट पर है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर हवा सिंह घुमरिया खुद उदयपुर में मौजूद रहेंगे। इसके अलावा आधा दर्जन से अधिक आईपीएस अधिकारियों को भी जिले में तैनात किया गया है। 

पूर्व केन्द्रीय मंत्री केवी थॉमस कांग्रेस से निष्कासित
वहीं, चिंतन शिविर की शुरुआत से पहले कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री केवी थॉमस को पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में गुरुवार को पार्टी से निष्कासित कर दिया।

केरल प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुख के सुधाकरन ने कहा कि थॉमस को अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की सहमति से पार्टी से निष्कासित किया गया है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि सुधाकरन ने इस संबंध में घोषणा राजस्थान के उदयपुर में की, जहां कांग्रेस का तीन दिवसीय ‘चिंतन शिविर’ शुरू हो रहा है।

गौरतलब है कि थॉमस ने कोच्चि में उपचुनाव के संबंध में आयोजित एक बैठक में माकपा नेता एवं केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के साथ मंच साझा किया था। इसी को लेकर कांग्रेस ने उनके खिलाफ यह कार्रवाई की है। इससे पहले कोच्चि में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए थॉमस ने कहा था, “मैं हमेशा से एक कांग्रेसी हूं, मैं न तो कांग्रेस छोड़ूंगा और न ही किसी अन्य पार्टी में शामिल होऊंगा। मैं एक कांग्रेसी के तौर पर एलडीएफ के चुनाव प्रचार में भी हिस्सा ले रहा हूं।”

विस्तार

कांग्रेस का तीन दिवसीय नव संकल्प चिंतन शिविर शुक्रवार से राजस्थान के उदयपुर में शुरू हो रहा है। कांग्रेस का चिंतन शिविर 13 से 15 मई तक चलेगा। चुनाव में लगातार हार का सामना कर रही पार्टी अपनी पुनर्संरचना और ध्रुवीकरण की राजनीति का मुकाबला करने के लिए रणनीति बनाएगी। शिविर में कांग्रेस के 400 से अधिक दिग्गज शिरकत करेंगे। 

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि नव संकल्प चिंतन शिविर में अर्थव्यवस्था के लगातार पतन, बढ़ती आर्थिक विषमता, महंगाई और कृषि क्षेत्र को कुछ चुनिंदा समूहों के हवाले करने के गहरे षड्यंत्र पर भी विमर्श होगा। साथ ही चीन के भारतीय क्षेत्र में घुसने, अनुसूचित जाति/जनजाति और अल्पसंख्यकों के अधिकारों पर हमले पर भी चर्चा की जाएगी।

राहुल गांधी ट्रेन से पहुंचेंगे उदयपुर

कांग्रेस नेता राहुल गांधी गुरुवार रात आठ बजे दिल्ली के सराय रोहिल्ला रेलवे स्टेशन से करीब 74 नेताओं के साथ उदयुपर आने के लिए ट्रेन से रवाना हो चुके हैं। वे यहां चिंतन शिविर में हिस्सा लेंगे। मेवाड़ एक्सप्रेस में राहुल गांधी सहित सभी नेताओं के लिए दो डिब्बे पहले से तैयार किए गए थे। 

राहुल गांधी शुक्रवार सुबह सात बजे उदयपुर सिटी रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे। यहां कांग्रेस नेताओं और पदाधिकारियों की ओर से उनका जोरदार स्वागत किया जाएगा। बताया जा रहा है कि उनके स्वागत के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित अन्य बड़े नेता भी स्टेशन आ सकते हैं। यहां से कारों के काफिले के साथ राहुल गांधी ताज अरावली पहुंचेंगे। ताज अरावली में ही चिंतन शिविर का आयोजन होगा। इसी होटल में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह सहित कई अन्य बड़े नेताओं के ठहरने की व्यवस्था की गई है। 

क्या रहेगा शिविर का कार्यक्रम?  

शुक्रवार दोपहर करीब दो बजे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संबोधन से चिंतन शिविर की शुरुआत होगी। इसके बाद नेताओं के बीच समूह संवाद शुरू होगा। यह शाम पांच बजे तक चलेगा। दूसरे दिन यानी शनिवार को सुबह 10:30 बजे से ही समूह संवाद शुरू हो जाएगा। यह करीब ढाई बजे तक चलेगा। इसके बाद रात में छह कमेटियों की बैठक होगी। 15 मई को आखिरी दिन 11 बजे से चिंतन शिविर के कार्यक्रम शुरू होंगे।   

पुलिस प्रशासन भी अलर्ट

कांग्रेस के चिंतन शिविर में भाग लेने के लिए 400 से ज्यादा नेता उदयपुर में जुटेंगे। उनकी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर राजस्थान पुलिस भी अलर्ट पर है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर हवा सिंह घुमरिया खुद उदयपुर में मौजूद रहेंगे। इसके अलावा आधा दर्जन से अधिक आईपीएस अधिकारियों को भी जिले में तैनात किया गया है। 

पूर्व केन्द्रीय मंत्री केवी थॉमस कांग्रेस से निष्कासित

वहीं, चिंतन शिविर की शुरुआत से पहले कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री केवी थॉमस को पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में गुरुवार को पार्टी से निष्कासित कर दिया।

केरल प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुख के सुधाकरन ने कहा कि थॉमस को अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की सहमति से पार्टी से निष्कासित किया गया है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि सुधाकरन ने इस संबंध में घोषणा राजस्थान के उदयपुर में की, जहां कांग्रेस का तीन दिवसीय ‘चिंतन शिविर’ शुरू हो रहा है।

गौरतलब है कि थॉमस ने कोच्चि में उपचुनाव के संबंध में आयोजित एक बैठक में माकपा नेता एवं केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के साथ मंच साझा किया था। इसी को लेकर कांग्रेस ने उनके खिलाफ यह कार्रवाई की है। इससे पहले कोच्चि में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए थॉमस ने कहा था, “मैं हमेशा से एक कांग्रेसी हूं, मैं न तो कांग्रेस छोड़ूंगा और न ही किसी अन्य पार्टी में शामिल होऊंगा। मैं एक कांग्रेसी के तौर पर एलडीएफ के चुनाव प्रचार में भी हिस्सा ले रहा हूं।”



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.