उत्तराखंड : युवती की हत्या के आरोपी बीजेपी नेता के बेटे के रिसॉर्ट पर चला बुल्डोजर, 5 बड़ी बातें


हत्या के आरोपी बीजेपी नेता के बेटे के रिसॉर्ट पर बुल्डोजर चलाया गया है.


Ankita Bhandari murder case: उत्तराखंड (Uttarakhand) के ऋषिकेश में अंकिता भंडारी की कथित तौर पर हत्या के आरोपी बीजेपी नेता के बेटे पुलकित आर्या के ऋषिकेश (Rishikesh) के वनतारा रिज़ॉर्ट में सीएम पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Dhami) के आदेश के बाद बुल्डोजर (Bulldozer) चलाया गया. न्यूज एजेंसी एएनआई ने इसका वीडियो जारी किया है.

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  1. उत्तराखंड (Uttarakhand) के ऋषिकेश में अंकिता भंडारी नाम की युवती की हत्या के आरोप में बीजेपी नेता के बेटे और उसके दो गिरफ्तार किया है. पुलिस के अनुसार पीड़ित बीजेपी नेता के बेटे के रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट के तौर पर नौकरी करती थी. हालांकि, पुलिस अभी तक मृतक युवती के शव को बरामद नहीं कर पाई है. 

  2. पुलिस ने बताया कि युवती बीते एक सप्ताह से लापता है. युवती के लापता होने की सूचना के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही पुलिस ने कार्रवाई शुरू की थी. पुलिस के अनुसार मुख्य गिरफ्तार आरोपी हरिद्वार से बीजेपी नेता विनोद आर्या का बेटा है. विनोद आर्या राज्य सरकार में मंत्री के पद पर हैं. हालांकि, राज्य सरकार ने उन्हें कोई मंत्रालय नहीं दिया गया है. 

  3. उत्तराखंड पुलिस के प्रमुख अशोक कुमार ने इस घटना को लेकर एक बयान जारी किया. उन्होंने कहा कि जिस जगह ये रिसॉर्ट है वहां स्थानीय पुलिस नहीं है. उस इलाके में आपराधिक घटनाओं को लेकर पटवारी मामला दर्ज करता है. इस मामले में भी उसने युवती के लापता होने को लेक मामला दर्ज किया है. यह एफआईआर रिसॉर्ट के मालिक ने ही दर्ज करवाई थी. ऋषिकेश शहर से यह रिसॉर्ट करीब 10 किलोमीटर दूर है. 

  4. कल डीएम ने ये मामला हमे ट्रांसफर किया है, और हमने 24 घंटे के भीतर ही मामले में गिरफ्तारी की है. इस पूरे मामले में रिसॉर्ट का मालिक ही मुख्य आरोपी है. उसके साथ रिजॉर्ट के दो अन्य कर्मचारियों को भी आरोपी बनाया गया है. अभी हमारी टीम इस मामले को सुलझाने में जुटी है, हम कई एंगल की जांच कर रहे हैं. 

  5. शुक्रवार को जब इस मामलें में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया तो स्थानीय लोग जो इस घटना को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे और आरोपियों पर हमला कर दिया. वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने किसी तरह से आरोपियों को उस भीड़ से बचाया और अपने साथ लेकर गए.



Source link